मूर्तियों पर हमले की बढ़ती घटनाओं के बीच उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश पुलिस को महापुरुषों की मूर्तियों की रक्षा करने को कहा है. गुरुवार को उनके कार्यालय से यह आदेश जारी हुआ. इससे दो दिन पहले मेरठ में डॉ भीमराव अंबेडकर की मूर्ति तोड़ दी गई थी. बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने इस घटना को गंभीरता से लिया है और तमाम पुलिस अधिकारियों से कहा है कि वे अपने-अपने जिलों में मौजूद मूर्तियों को सुरक्षा दें.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक मुख्यमंत्री ने मेरठ में हुई घटना के दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही है. बयान में कहा गया है, ‘शांति बनाए रखना राज्य सरकार की सबसे बड़ी प्राथमिकता है. राज्य का माहौल बिगाड़ने वाले समाज-विरोधी तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’ मुख्यमंत्री ने पुलिस को यह निर्देश भी दिया कि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होनी चाहिए.

इस बीच बसपा प्रमुख मायावती ने मांग की है कि मूर्ति तोड़ कर अशांति फैलाने वालों के खिलाफ राजद्रोह के कानून के तहत मामला दर्ज किया जाना चाहिए. मंगलवार को मेरठ के मवाना में कुछ शरारती तत्वों ने डॉ बीआर अंबेडकर की एक मूर्ति तोड़ दी थी. बुधवार को टूटी मूर्ति देखकर स्थानीय लोग भड़क गए. पुलिस आरोपितों को पकड़ने की कोशिश कर रही है. लोगों का हंगामा देखते हुए वहां नई मूर्ति लगवा दी गई है.