अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वे उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन से मिलने के लिए तैयार हैं. डोनाल्ड ट्रंप ने एक ट्टीट में कहा कि अमेरिका और उत्तर कोरिया के पहले शिखर सम्मेलन के लिए योजना बनाई जा रही है और वे इसमें किम जोंग उन से मिल सकते हैं. हालांकि उनका यह भी कहना था कि इस मुलाकात में कोई सहमति बनने तक उत्तर कोरिया पर लगे प्रतिबंध जारी रहेंगे. उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम के चलते पैदा हुए संकट के मद्देनजर डोनाल्ड ट्रंप के इस बयान को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

बीते सोमवार को दक्षिण कोरिया के एक प्रतिनिधिमंडल ने किम जोंग उन से मुलाकात की थी. इसकी जानकारी देने के लिए दक्षिण कोरिया के राष्ट्रीय सुरक्षा कार्यालय के प्रमुख चुंग ईयूइ-योंग डोनाल्ड ट्रंप से मिले थे. इस मुलाकात के बाद पत्रकारों से बातचीत में चुंग ने बताया कि ट्रंप ने किम से बातचीत पर सहमति दे दी है और दोनों नेताओं की मुलाकात मई से पहले होगी. हालांकि यह मुलाकात कब और कहां होगी, यह तय नहीं हुआ है.

विदेश नीति के मोर्चे पर यह डोनाल्ड ट्रंप का यह सबसे बड़ा दांव माना जा रहा है. इससे पहले साल 2000 में तत्कालीन अमेरिकी विदेश मंत्री मैडलीन अलब्राइट बातचीत के लिए उत्तर कोरिया गई थीं. बीते काफी समय से उत्तर कोरिया और अमेरिका एक दूसरे को हमले की धमकी देते रहे हैं