दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट के मामले में आम आदमी पार्टी के विधायक प्रकाश जरवाल को जमानत मिल गई है. खबरों के अनुसार दिल्ली हाई कोर्ट ने उन्हें सशर्त जमानत दी है. इसमें देश से बाहर न जाने, सबूतों से छेड़छाड़ न करने और मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से मुलाकात न करने जैसी शर्तें शामिल हैं. इससे पहले 23 फरवरी को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया था.

मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने 20 फरवरी को आम आदमी पार्टी के दो विधायकों प्रकाश जरवाल और अमानतुल्लाह खान के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज कराई थी. इसमें उन्होंने कहा था कि इन दोनों विधायकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर उनके साथ हाथापाई की है. मुख्य सचिव को मुख्यमंत्री आवास पर एक बैठक के लिए बुलाया गया था. इसी आधार पर दिल्ली पुलिस ने 21 फरवरी को इन दोनों विधायकों को गिरफ्तार कर लिया था.

22 फरवरी को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने दोनों विधायकों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था. इसे बाद में 14 दिन के लिए और बढ़ा दिया गया था. खबरों के मुताबिक दूसरे आरोपित विधायक अमानतुल्लाह खान ने भी जमानत के लिए मंगलवार को दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है.