त्रिपुरा में भाजपा की पहली सरकार का गठन हो गया है. भाजपा ने हाल में संपन्न विधानसभा चुनाव में 25 साल से सत्तासीन लेफ्ट फ्रंट के खिलाफ ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी. समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार शुक्रवार को राज्यपाल तथागत रॉय ने भाजपा के बिप्लब कुमार देब को मुख्यमंत्री और जिष्णु देब बर्मन को उपमुख्यमंत्री की शपथ दिलाई. इसके साथ सात मंत्रियों ने भी पद और गोपनीयता की शपथ ली है. इनमें इंडिजनस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) के प्रमुख एनसी देबबर्मा भी शामिल हैं. भाजपा ने त्रिपुरा में आईपीएफटी के साथ मिलकर चुनाव लड़ा था.

त्रिपुरा में भाजपा की पहली सरकार का शपथ ग्रहण समारोह अगरतला के असम राइफल मैदान में हुआ. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी के अलावा भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहे. त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री माणिक सरकार भी इस समारोह में मौजूद रहे.

त्रिपुरा में विधानसभा की 60 में से 59 सीटों पर मतदान हुआ था. इसमें भाजपा ने अकेले 35 और उसके सहयोगी दल आईपीएफटी ने आठ सीटें जीती थीं. वहीं, लेफ्ट फ्रंट के खाते में केवल 16 सीटें आई थीं. सीपीआई(एम) उम्मीदवार के निधन के चलते एक सीट पर चुनाव नहीं हुआ था. इस सीट पर अब 12 मार्च को मतदान होगा.