सुप्रीम कोर्ट ने आज एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए इच्छा मृत्यु को मंजूरी दे दी है. एक जनहित याचिका पर शुक्रवार को यह फैसला सुनाते हुए शीर्ष अदालत ने कहा कि जिस तरह व्यक्ति को सम्मान के साथ जीने का हक है उसी तरह उसे सम्मान से मरने का अधिकार भी है. सोशल मीडिया पर आज इस फैसले की खूब चर्चा रही और ट्विटर Euthanasia (इच्छा मृत्यु) ट्रेंडिंग टॉपिक में भी शामिल रहा. यहां एक बड़े तबके ने इस फैसले पर सुप्रीम कोर्ट का आभार जताया है. हालांकि कुछ ने इस पर अपनी आशंकाएं भी साझा की हैं. ट्विटर पर वरिष्ठ पत्रकार हरिंदर बावेजा की ऐसी ही टिप्पणी है, ‘मैं इच्छा मृत्यु और मृत्यु वसीयत पर थोड़ी दुविधाग्रस्त हूं, खासकर इसलिए क्योंकि हम उस दौर में जी रहे हैं जहां बच्चे संपत्ति विवाद को लेकर मां-बाप तक पर मुकदमा दर्ज कर देते हैं. उम्मीद की जाए कि इच्छा मृत्यु से संबंधित फैसलों में सुरक्षा के पर्याप्त प्रावधान हों.’

जैसा कि अक्सर होता है, सोशल मीडिया में इस फैसले पर भी कई दिलचस्प राजनीतिक प्रतिक्रियाएं आई हैं. फेसबुक राहुल पंवार की तंजभरी पोस्ट है, ‘सुप्रीम कोर्ट ने इच्छा मृत्यु की इजाजत दे दी है. अब कांग्रेस चाहे तो 2019 का चुनाव लड़ सकती है.’ वहीं सलीम अख्तर सिद्दीकी ने लिखा है, ‘इस देश में रोज ही कहीं न कहीं इच्छा मृत्यु होती है. बस उसका नाम खुदकुशी कर दिया गया है. वैसे हमारे यहां किसानों को बिना शर्त इच्छा मृत्यु की इजाजत दे देनी चाहिए. इससे सरकार भी रोज-रोज की फजीहत से बच जाएगी.’

सोशल मीडिया में सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

चक्रधर मणि त्रिपाठी | facebook/chakradharmt

यह फैसला (इच्छा मृत्यु का) कुछ लोगों के लिए अच्छा हो सकता है, लेकिन इस बात की यहां काफी आशंका है कि लोग सिर्फ अपनी जिम्मेदारियों से बचने के लिए इसकी आड़ लें...

नाइट वॉचमैन |‏ @watchman_knight

आप भगवान हैं और जब आपको पता चले कि इंसान पीड़ा भुगतने और चमत्कार की उम्मीद करने के बजाय सम्मान के साथ मरना चुन सकते हैं :

तानिमा | @Tanima____

मैं यकीन के साथ कह सकती हूं कि इच्छा मृत्यु के लिए लोगों को आधार पेश करने की जरूरत होगी.

योगेश हरदासनी | @yogjan15

....तो अब से कोई चमत्कार नहीं होंगे.

अतुल खत्री | @one_by_two

खबर : सुप्रीम कोर्ट ने पैसिव यूथेनेशिया को मंजूरी दी.
ज्यादातर गुजराती : वाह, यूथेनेशिया नाम की नई जगह! चलो वहां इस गर्मी में चार रातों और पांच दिनों के पैकेज वाले टूर पर चला जाए.