रेल यात्री अपना कन्फर्म टिकट किसी और को भी ट्रांसफर कर सकते हैं. भारतीय रेलवे ने कुछ शर्तों के साथ यह व्यवस्था दी है. इसके मुताबिक टिकट कन्फर्म होने के बाद अगर कोई व्यक्ति यात्रा करने की स्थिति में नहीं है तो वह अपना टिकट परिवार के किसी सदस्य को ट्रांसफर कर सकता है. इसके अलावा कोई सरकारी कर्मचारी भी ड्यूटी के सिलसिले में यात्रा कर रहे किसी दूसरे सरकारी कर्मचारी को अपना टिकट ट्रांसफर कर सकता है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक इस सेवा के नियमों के मुताबिक टिकट ट्रांसफर करने के लिए यात्री को एक आवेदन देना होगा. यह आवेदन ट्रेन के प्रस्थान के समय से 24 घंटे पहले जमा कराना होगा. किसी मान्यता प्राप्त शैक्षिक संस्थान के छात्र भी किसी दूसरे छात्र के नाम पर अपना टिकट ट्रांसफर करवा सकते हैं. शादी के बाराती भी अपना टिकट दूसरे बाराती को ट्रांसफर कर सकते हैं. लोगों को शादी में ले जा रहे व्यक्ति को इसके लिए आवेदन करना पड़ेगा.

वैसे यह कोई नई व्यवस्था नहीं है, लेकिन कुछ ऑनलाइन टिकट बुकिंग वेबसाइटों द्वारा इसकी जानकारी देने के बाद यह चर्चा में आ गई है. 1990 में इस बारे में दिशा-निर्देश जारी हुए थे जिनमें 1997 और 2002 में संशोधन हुआ.