क्रिकेटर मोहम्मद शमी की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं. कोलकाता पुलिस ने उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. उन पर हत्या की कोशिश और बलात्कार जैसे कई आरोप लगाए गए हैं. गुरुवार को उनकी पत्नी हसीन जहां ने उनके खिलाफ घरेलू हिंसा और धोखेबाजी के आरोपों के तहत शिकायत दर्ज कराई थी. शमी के अलावा उनकी मां आरा बेगम, बहन शबीना अंजुम, भाई मोहम्मद हासिब और उनकी पत्नी शमा परवीन के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस सीआरपीसी सेक्शन 41ए के तहत शमी को नोटिस जारी करेगी. नोटिस में उनसे जांचकर्ताओं के सामने पेश होने को कहा जाएगा. जॉइंट कमिश्नर (अपराध) प्रवीण त्रिपाठी ने कहा कि इस मामले में कोलकाता पुलिस के खुफिया विभाग ने पहले ही जांच शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि पुलिस सभी आरोपों की विस्तृत जांच करेगी.

वहीं, आपराधिक मामलों के एक वकील ने बताया कि मामले में लगाई गईं धाराओं के चलते मोहम्मद शमी की गिरफ्तारी हो सकती है. उनके मुताबिक अगर शमी जांच में सहयोग नहीं करते तो उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है. उधर, शुक्रवार को शमी की पत्नी हसीन जहां के घर के बाहर पुलिस की तैनाती कर दी गई.

हसीन जहां ने आरोप लगाया था कि पिछले दिसंबर को परिवार के अमरोहा स्थित घर में मोहम्मद शमी ने उन्हें उनके बड़े भाई के साथ जबरदस्ती एक कमरे में बंद कर दिया था. हसीन का कहना है कि शमी ने उन्हें उनके भाई से शारीरिक संबंध बनाने को कहा था. हसीन जहां के मुताबिक जब उन्होंने चिल्लाना शुरू किया तो जाकर शमी के भाई ने दरवाजा खोला और उन्हें जाने दिया.

उधर, पत्नी के आरोपों पर मोहम्मद शमी ने कहा कि वे अपना मानसिक संतुलन खो बैठी हैं. पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं पता वे क्या चाहती हैं. हमने इस महीने होली भी मनाई थी. अब वे अचानक ही मुझ पर ये सब आरोप लगा रही हैं. मुझे लगता है उन्होंने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है या उनकी योजना मेरा करियर बर्बाद करने की है.’

वहीं, बीसीसीआई द्वारा अनुबंध रोके जाने को लेकर शमी ने कहा कि उन्हें बीसीसीआई पर पूरा भरोसा है. उन्होंने कहा, ‘बीसीसीआई ने जो भी किया है काफी सोच-समझकर किया होगा. मेरा उनमें पूरा भरोसा है. मुझे लगता है कि वे मेरे करियर को लेकर सही फैसला लेंगे.’