महाराष्ट्र में किसानों का आंदोलन खत्म हो गया है. आज किसानों के एक प्रतिनिधि मंडल के साथ करीब तीन घंटे चली बैठक के बाद राज्य सरकार ने उनकी सभी मांगों को पूरा करने का वादा किया. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि किसानों की अधिकतर मांगें मान ली गई हैं और उनको इस बारे में लिखित आश्वासन भी दे दिया गया है. सरकार के मुताबिक इन मांगों पर अगले छह महीनों के दौरान कार्रवाई हो जाएगी. महाराष्ट्र के करीब 30 हजार किसान मुंबई के आजाद मैदान पहुंच गए थे. इसने सरकार की चिंता बढ़ा दी थी.

किसानों की प्रमुख मांगें

1-सभी किसानों के कर्ज बिना शर्त माफ हों.
2- स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू की जाएं.
3- नदी जोड़ योजना के जरिए राज्य के किसानों को पानी मिले.
4- कृषि उपज की लागत मूल्य के अलावा 50 प्रतिशत लाभ दिया जाए.
5- जंगल की जमीनों पर पीढ़ियों से खेती कर रहे किसानों को जमीन का मालिकाना हक मिले.
6- किसानों के लिए सहायता राशि 600 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 3000 रुपये प्रति माह की जाए.