केरल के कथित लव जिहाद मामले में सुप्रीम कोर्ट से राहत भरा फैसला पाने के बाद हादिया जहां ने अपने पिता को लेकर टिप्पणी की है. सोमवार को पति शफीन जहां के साथ मीडिया के सामने आईं हादिया ने कहा कि उनके पिता देश-विरोधी ताकतों के हाथों में खेल रहे हैं. उन्होंने कहा कि कुछ लोग उनके एक मुस्लिम व्यक्ति से शादी करने और इस्लाम अपनाने को मुद्दा बनाने की कोशिश कर रहे हैं. हादिया ने परिवार द्वारा प्रताड़ित किए जाने की बात करते हुए राज्य सरकार से मुआवजे की मांग की है.

इंडिया टुडे के मुताबिक पत्रकारों से बातचीत में हादिया ने कहा, ‘मैंने अपनी इच्छा से इस्लाम अपनाया है. लेकिन कुछ लोग इस पर विवाद पैदा करना चाहते थे. शुरू में मुझे मेरे परिवार से कोई परेशानी नहीं थी. लेकिन बाद में उन्होंने मेरी धार्मिक गतिविधियों पर रोक लगा दी जिसकी वजह से मुझे घर छोड़ना पड़ा.’ हादिया ने बताया कि परिवार के साथ बिताए छह महीने उनके लिए घर में नजरबंद होने जैसे थे. उन्होंने कहा, ‘ऐसे कई लोग, जिन्हें मैं घर में आते नहीं देखना चाहती थी वे मुझे देख कर जाते थे और जिन्हें मैं चाहती थी उन्हें कभी आने नहीं दिया गया. मेरे पिता तक देश-विरोधी ताकतों के हाथों इस्तेमाल हो रहे थे.’

इससे पहले हादिया ने अपने परिवार पर उन्हें प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. उन्होंने आरोप लगाया कि उनकी मां ने उन्हें जहर देने की कोशिश की. हालांकि सोमवार की प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने इन बातों को सार्वजनिक रूप से कहने के लिए अपने माता-पिता से माफी मांगी. हादिया ने केरल लव जिहाद मामले में शामिल सभी लोगों और समूहों से अपील की कि वे उनकी शादी को लेकर तमाम विवाद खत्म करें.