अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को एक बड़ा फैसला लेते हुए अपने विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को उनके पद से हटा दिया है. उनकी जगह अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के निदेशक माइक पोम्पियो को नया विदेश मंत्री बनाया गया है. डोनाल्ड ट्रंप ने इसके साथ ही पोम्पियो के स्थान पर जिना हेस्पल को सीआईए का नया निदेशक नियुक्त किया है. इस पद पर बैठने वाली वे पहली महिला हैं. अमेरिकी राष्ट्रपति ने अब से कुछ देर पहले ट्वीट करके यह जानकारी दी है. इसमें उन्होंने टिलरसन का इस पद पर रहने के लिए आभार जताया है और नए विदेश मंत्री और सीआईए निदेशक को बधाई दी है.

माना जा रहा है कि ट्रंप ने 2016 के अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस के कथित दखल से उपजे विवाद को कम करने के लिए यह फैसला किया है. कहा जाता है कि एक्सॉन मोबिल कॉरपोरेशन का चेयरमैन और सीईओ रहते हुए रेक्स टिलरसन के रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से काफी अच्छे संबंध थे. तब उन्होंने यूरेशिया और पश्चिम एशिया में अपनी कंपनी की ओर से कई अहम सौदे किए थे. इन वजहों से पुतिन ने उन्हें 2012 में आॅर्डर ऑफ फ्रेंडशिप अवॉर्ड से भी नवाजा था. यही वजह है कि उनके विदेश मंत्री बनने के बाद से ट्रंप सरकार विपक्षी दल डेमोक्रेटिक पार्टी के निशाने पर बनी हुई थी.

उधर सीआईए की पहली महिला प्रमुख बनीं जिना हेस्पल संदिग्ध आतंकियों को प्रताड़ित करने के लिए अवैध रूप से बनाए गए ठिकाने ‘ब्लैक साइट’ के चलते विवादों में रह चुकी हैं. 2002 में सीआईए द्वारा थाईलैंड में बनाए गए ऐसे ठिकानों पर अलकायदा के कई आतंकियों को पूछताछ के दौरान बुरी तरह प्रताड़ित किया गया था. अमेरिकी उच्च सदन सीनेट की खुफिया समिति ने इस बारे में जिना हेस्पल समेत कई अफसरों पर आरोप लगाए थे.