मई में चंडीगढ़ का हवाई संपर्क बाकी दुनिया से 20 दिन के लिए कटा रहेगा. रनवे की मरम्मत के लिए शहर के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को 12 से 31 मई तक बंद रखने का फैसला हुआ है. इस दौरान वहां से न तो सैन्य और न ही किसी दूसरी व्यावसायिक उड़ान का संचालन किया जाएगा.

चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड के प्रवक्ता दीपेश जोशी ने के मुताबिक हवाई अड्डे के रनवे को और मजबूत बनाया जा रहा है जिससे यहां भारी और ज्यादा चौड़े विमान भी उतर पाएंगे. बताया जा रहा है कि भारतीय वायुसेना के लिए भी नया रनवे मददगार रहेगा और वह भी अपनी उड़ानों की संख्या बढ़ा सकेगी. दीपेश जोशी ने आगे कहा कि इस हवाई अड्डे के रनवे की मौजूदा लंबाई नौ हजार फुट है जिसे बढ़ाकर 10,400 फुट कर दिया जाएगा.

उधर, एयरपोर्ट अथॉरिटी आॅफ इंडिया ने घोषणा की है कि मई में मरम्मत का काम पूरा होने के बाद इस हवाई अड्डे में कैट 3बी सिस्टम लगाया जाएगा. ऐसा होने से कम दृश्यता और धुंध के मौसम में विमानों को उतरने और उड़ान भरने में मदद मिलती है. जानकारों का कहना है कि इस सिस्टम के लगने से चंडीगढ़ की अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की संख्या में बढ़ोतरी होगी.