नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी को इस पद पर लगातार दूसरे कार्यकाल के लिए चुन लिया गया है. वे 2015 में देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनी थीं. ख़बरों के मुताबिक विद्या देवी भंडारी ने इस बार हुए चुनाव में नेपाली कांग्रेस की नेता कुमारी लक्ष्मी राय को हराया है. वैसे उनकी जीत उसी समय सुनिश्चित हो गई थी जब उनके नामांकन पत्र पर सत्ताधारी वाम गठबंधन के नेताओं के साथ संघीय समाजवादी फोरम-नेपाल जैसे अन्य छोटे दलों के प्रतिनिधियों ने भी दस्तख़त किए थे. नेपाल के राष्ट्रपति चुनाव में भी भारत की तरह संसद और प्रांतीय विधानसभाओं के प्रतिनिधि मतदान करते हैं.

कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल की नेता रह चुकी विद्या देवी दो बार सांसद भी रही हैं. वे नेपाल के रक्षा मंत्री का पद भी संभाल चुकी हैं. उनके पति अपने समय के करिश्माई और प्रभावशाली नेता के रूप में विख्यात कम्युनिस्ट नेता मदन भंडारी थे जिनका 1993 में एक सड़क हादसे में निधन हो गया था. उनके दोबारा राष्ट्रपति बनने को भारत-नेपाल संबंधों के लिहाज से भी सकारात्मक खबर माना जा रहा है.