बुधवार को गुजरात विधानसभा में लोकतंत्र को शर्मसार करने वाली घटना घटी. बजट सत्र के दौरान कांग्रेस के विधायक प्रताप दुधात ने गुस्से में आकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक जगदीश पांचाल पर माइक की रॉड से हमला कर दिया. इस दौरान कांग्रेसी विधायक ने पांचाल को एक घूंसा भी दे मारा. मारपीट रोकने के लिए फौरन सुरक्षा मार्शलों को बुलाया गया जो दुधात को वहां से बाहर ले गए. कांग्रेसी विधायक को इस व्यवहार के लिए पूरे बजट सत्र से निलंबित कर दिया गया है.

खबरों के मुताबिक विधानसभा में यह पूरा हंगामा प्रश्नकाल के बाद शुरू हुआ. कांग्रेसी विधायक विक्रम मदम एक मुद्दे पर अपना पक्ष रख रहे थे उसी दौरान सदन सभापति राजेंद्र त्रिवेदी ने उन्हें रुकने के लिए कहा. जबकि मदम ने अपनी बात पूरी करने पर जोर दिया. इसी बीच एक अन्य कांग्रेसी नेता अमरीश डेर ने मदम से अपनी बात जारी रखने को कहा. त्रिवेदी ने अमरीश डेर को उनके लहजे के लिए टोका तो कांग्रेस के अन्य विधायकों ने हंगामा शुरू कर दिया.

इसके बाद विरोध जताते हुए विक्रम मदम और अमरीश डेर सदन के गर्भगृह पहुंच गए. सभापति के रोकने पर जब वे नहीं माने तो उन्हें एक दिन के लिए निलंबित कर दिया गया. और फिर मार्शल बुलवाकर उन्हें सदन से बाहर कर दिया गया. इसी दौरान जगदीश पांचाल पर प्रताप दुधात का गुस्सा फूट पड़ा, क्योंकि कुछ ही देर पहले उन्होंंने कांग्रेसी विधायकों से शांति बनाए रखने को कहा था.