एक बड़ी कार्रवाई करते हुए ब्रिटेन ने अपने यहां से 23 रूसी राजनयिकों को निष्कासित कर दिया है. ब्रिटिश प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने यह भी कहा कि वे ब्रिटेन और रूस के बीच सभी उच्च स्तरीय संपर्क फिलहाल खत्म कर रही हैं. 23 रूसी राजनयिकों को ब्रिटेन छोड़ने के लिए एक हफ्ते का समय दिया गया है.

चार मार्च को ब्रिटेन में एक रूसी जासूस और उनकी बेटी को जहर दे दिया गया था. उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. माना जा रहा है कि यह जासूस एक डबल एजेंट था. यानी वह रूस का खुफिया एजेंट था, लेकिन ब्रिटेन के लिए काम कर रहा था. यह कार्रवाई ब्रिटेन ने इसी हमले के सिलसिले में की है. उसने रूस पर रासायनिक हमले का आरोप लगाया है. टेरीजा मे ने ब्रिटेन में मौजूद रूस की सरकारी संपत्ति को जब्त किए जाने की बात भी कही है. उनका यह भी कहना है कि रूस में होने वाले फुटबॉल विश्व कप में शाही परिवार का कोई भी सदस्य शामिल नहीं होगा.

उधर, रूस ने इस मामले में किसी साजिश से इनकार किया है. उसने कहा है कि वह अपने खिलाफ होने वाली किसी भी कार्रवाई का जवाब देगा. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने हाल में कहा था कि ब्रिटेन को इस मामले में रूस के साथ चर्चा छेड़ने से पहले खुद इसकी तह में जाना चाहिए.