जर्मनी की चांसलर अंगेला मेर्कल को एक बार फिर इस पद पर चुन लिया गया है. यह उनका लगातार चौथा कार्यकाल है. वे 2005 से इस पद पर बनी हुई हैं.

ख़बरों के मुताबिक संसद में उनके पक्ष में 364 वोट पड़े. क़रीब छह महीने पहले हुए चुनाव में उनकी पार्टी क्रिश्चियन डेमोक्रेटिक यूनियन (सीडीयू) और उसकी सहयोगी क्रिश्चियन सोशल यूनियन (सीएसयू) ने बीते 70 साल में सबसे ख़राब प्रदर्शन किया था. उसे सिर्फ 33 प्रतिशत वोट मिले जबकि पिछली बार यह आंकड़ा 42 फीसदी के करीब था. इसके बाद महीनों तक देश में नई सरकार के गठन को लेकर गतिरोध बना रहा.

इसी बीच सोशल डेमोक्रेट्स (एसपीडी) मेर्कल को समर्थन देने के लिए आगे आई. ख़बरों के अनुसार इसी सोमवार को सीडीयू, सीएसयू और एसपीडी के बीच नई सरकार के गठन के लिए आपसी समझौते पर दस्तख़त हुए. इसके बाद सांसदों ने अगले कार्यकाल के लिए एक बार फिर मेर्कल को चुन लिया. हालांकि मेर्कल को इस गठबंधन के कारण नई सरकार में वित्त और विदेश मंत्रालय से जैसे अहम विभागों से हाथ धोना पड़ा है.