व्लादिमीर पुतिन के एक बार फिर रूस का राष्ट्रपति बनने का रास्ता साफ हो गया है. उन्होंने रूस के राष्ट्रपति चुनाव में चौथी बार जीत दर्ज की है. इस जीत के बाद अब व्लादिमीर पुतिन 2024 तक रूस के राष्ट्रपति बने रह सकते हैं. उन्होंने अपने नए कार्यकाल में पश्चिमी देशों के खिलाफ रूस की सुरक्षा बढ़ाने और लोगों का जीवन स्तर ऊपर उठाने के लिए काम करने का वादा किया है.

इससे पहले मतगणना का रुझान स्पष्ट होने के बाद मॉस्को में एक रैली को संबोधित करते हुए व्लादिमीर पुतिन ने कहा था कि मतदाताओं ने उनके कामों पर मुहर लगाई है. उनकी इस जीत को 2012 की जीत से बड़ा माना जा रहा है, तब उन्हें 64 फीसदी वोट मिले थे. हालांकि, इस बार व्लादिमीर पुतिन को 76.66 फीसदी वोट मिले हैं. वहीं, उनके प्रतिद्वंद्वी कम्युनिस्ट पार्टी के उम्मीदवार पॉवेल ग्रूदिनिन को लगभग 12 फीसदी वोट, जबकि टेलीविजन होस्ट रहीं सेनिया सॉबचक को केवल दो फीसदी वोट मिले हैं.

इस बीच अन्य वैश्विक नेताओं के साथ भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी व्लादिमीर पुतिन को चुनाव जीतने पर बधाई दी है. प्रधानमंत्री कार्यालय के बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके नए कार्यकाल में दोनों देशों के रणनीतिक संबंधों में मजबूत आने की उम्मीद जताई है.