जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कुपवाड़ा जिले में दो दिन चली मुठभेड़ के दौरान मारे गए संदिग्ध आतंकियों को विदेशी बताया है. खबरों के मुताबिक पुलिस महानिरीक्षक एसपी सैनी ने कहा कि इस मुठभेड़ में मारे गए सभी आतंकी विदेशी और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे. उन्होंने यह भी कहा कि इन आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में गोला-बारूद और हथियार बरामद किए गए हैं.

द इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार कुपवाड़ा मुठभेड़ में मारे गए पांचों आतंकी नियंत्रण रेखा पार कर भारत आए थे. इन्होंने भारतीय क्षेत्र में लगभग आठ किलोमीटर का सफर करने के बाद यहां पर पहले से मौजूद आतंकियों के एक गुट से मिल गए थे. हालांकि, सुरक्षाबलों ने मंगलवार को हलमतपोरा उस वक्त इन्हें घेर लिया, जब ये लोग कुपवाड़ा शहर की तरफ जा रहे थे. इसके बाद सभी आतंकी नजदीकी जंगल में छिप गए और सुरक्षाबलों पर गोलियां चलाने लगे.

दो दिन तक चली इस मुठभेड़ में पांच सुरक्षाकर्मी भी शहीद हुए हैं. इसके अलावा इस मुठभेड़ में शामिल सेना का एक जवान बुधवार से लापता बताया जा रहा है. इसका पता लगाने के लिए सुरक्षाबलों ने जंगल के अंदरूनी हिस्से में तलाशी अभियान शुरू किया है.