भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) से नाता तोड़ चुके आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू को खुला पत्र लिखा है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष ने एनडीए से तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के अलग होने के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण और एकतरफा बताया है. अपने पत्र में उन्होंने यह भी आरोप लगाया है कि टीडीपी के एनडीए से अलग होने की वजह राज्य के विकास की चिंता नहीं, बल्कि राजनीतिक (लाभ-हानि का) आकलन है.

रिपोर्ट के मुताबिक भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने एनडीए सरकार के विकास एजेंडे में आंध्र प्रदेश को वरीयता के साथ शामिल बताया है. उन्होंने यह भी दावा किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्य के विकास और समृद्धि के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है. भाजपा अध्यक्ष के मुताबिक उनकी पार्टी राज्य का बंटवार होने के पहले से तेलुगु भाषी लोगों के हितों की सुरक्षा में आवाज उठाती रही है.

टीडीपी बीते हफ्ते आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्ज की मांग को लेकर एनडीए से अलग हो गई थी. 2014 में राज्य के बंटवारे के समय आंध्र प्रदेश को पांच साल के लिए विशेष राज्य का दर्जा देने का वादा किया गया था. हालांकि, इस बीच केंद्र सरकार ने राज्य को विशेष आर्थिक पैकेज देने का प्रस्ताव रखा था. लेकिन राज्य की सत्ताधारी टीडीपी विशेष राज्य के दर्जे से कम पर समझौता करने पर तैयार नहीं दिखाई दे रही है.