‘अमेरिका को वीजा के लिए बायोमीट्रिक सूचनाएं देने में दिक्कत नहीं होती, लेकिन भारत सरकार को देने में निजता का सवाल आ जाता है.’

— अल्फोंस कन्नाथनम, केंद्रीय पर्यटन मंत्री

केंद्रीय मंत्री अल्फोंस कन्नाथनम का यह बयान बायोमीट्रिक पहचान संख्या (आधार) से निजता में दखलंदाजी होने के आरोपों पर आया. उन्होंने कहा, ‘बीते साढ़े तीन साल में आधार की सूचना लीक होने का एक भी मामला सामने नहीं आया है.’ अल्फोंस कन्नाथनम ने आगे कहा कि भारत सरकार आधुनिक तकनीक की मदद से आधार संबंधी सूचनाओं की सुरक्षा करती है और लगातार उसमें सुधार भी करती है. उनके मुताबिक सरकार लोगों से कितनी सूचनाएं ले सकती है, अब इसका फैसला सुप्रीम कोर्ट ही करेगा.

‘जब तक राहुल गांधी राजनीति में हैं, नरेंद्र मोदी चुनाव जीतते रहेंगे.’

— रामदास अठावले, केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले का यह बयान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच होने वाली तुलना को खारिज करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘2019 के चुनाव में सीटें घट सकती हैं, लेकिन सरकार भाजपा और एनडीए ही बनाएगी.’ रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के अध्यक्ष रामदास अठावले ने कहा कि अनुसूचित जाति (एससी) और अनुसूचित जनजाति (एसटी) अत्याचार रोकथाम कानून की धाराओं को नरम करने के सुप्रीम कोर्ट फैसले पर उनकी पार्टी पुनर्विचार याचिका लगाएगी. उनके मुताबिक एससी-एसटी एक्ट के दुरुपयोग के कुछ मामले हो सकते हैं, लेकिन इससे वंचित तबके को बहुत सुरक्षा मिली है.


‘देश में ऐसी एक भी मंडी नहीं है, जहां किसान अपनी फसल न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) बेच सकें.’

— योगेंद्र यादव, स्वराज अभियान के नेता

स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव का यह बयान बगैर जरूरी इंतजामों के किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य दिलाने के केंद्र के वादे को मजाक बताते हुए आया. एमएसपी सत्याग्रह शुरू करते हुए उन्होंने कहा, ‘इस साल पहली बार आम बजट में एमएसपी पर चर्चा हुई है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि उन्हें किसानों को एमएसपी न मिलने की जानकारी है, जिससे निपटने के लिए उन्होंने विशेष उपाय करने का भी वादा किया है.’ योगेंद्र यादव ने आगे कहा कि एमएसपी सत्याग्रह का मकसद बजट में सरकार द्वारा किए वादों की जमीनी हकीकत जानना है.


‘देश में नक्सल समस्या खत्म होने की कगार पर है.’

— राजनाथ सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री

केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह का यह बयान नक्सलियों को गरीब, आदिवासी और विकास विरोधी बताते हुए आया. केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के 79वें स्थापना दिवस पर उन्होंने कहा, ‘नक्सलियों से टकराव में पहले सुरक्षाबलों और आम नागरिकों के हताहत होने की संख्या ज्यादा थी, लेकिन अब स्थिति पलट चुकी है, माओवादी ज्यादा संख्या में मारे जा रहे हैं.’ राजनाथ सिंह ने आगे कहा कि माओवादी, सुरक्षाबलों का सीधे मुकाबला करने में सक्षम नहीं हैं, इसलिए घात लगाकर कायराना हमले कर रहे हैं. उनके मुताबिक सीआरपीएफ ने कश्मीर में उपद्रव से लेकर पूर्वोत्तर में चरमपंथ और वाम अतिवाद जैसी गतिविधियों का मुंहतोड़ जवाब दिया है.


‘अमेरिका की सख्त नीतियों को देखते हुए ईरान को रूस और चीन से नजदीकी बढ़ानी चाहिए.’

— अलाइद्दीन बोरोजेरदी, ईरान की विदेश मामलों की संसदीय समिति के अध्यक्ष

ईरान की संसदीय समिति के अध्यक्ष अलाइद्दीन बोरोजेरदी का यह बयान अमेरिका राष्ट्रपति द्वारा इजरायल समर्थक जॉन बोल्टन को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बनाने पर आया. उन्होंने कहा, ‘रूस और चीन को भी अमेरिकी प्रतिबंधों और चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है.’ अलाइद्दीन बोरोजेरदी ने आगे कहा कि अमेरिका द्वारा ईरान विरोधी तत्वों को बढ़ावा देना बताता है कि वे ईरान पर अपना दबाव बढ़ा रहे हैं, जिसका मकसद इजरायल और सऊदी अरब को राहत देना है. जॉन बोल्टन ने 2015 में ईरान के साथ परमाणु संधि का विरोध किया था, इसलिए उनकी नियुक्ति से इस संधि के जल्द खत्म होने की आशंका जताई जा रही है.