सऊदी अरब की सेना ने रविवार को यमन के हूती विद्रोहियों द्वारा दागी गई सात मिसाइलों को हवा में मार गिराने का दावा किया है. खबरों के मुताबिक सऊदी अरब की इंटरसेप्टिक मिसाइलों के टुकड़े से रियाद में मिस्र के एक नागरिक की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए. सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना के प्रवक्ता कर्नल तुर्की अल मालिकी ने बताया कि सात में से तीन मिसाइलों से रियाद को, जबकि बाकी मिसाइलों को दक्षिण शहरों के एयरपोर्ट को निशाना बनाकर दागा गया था.

वहीं, हूती विद्रोहियों के प्रवक्ता मुहम्मद अल-बुकैती ने इसे सऊदी अरब द्वारा यमन के शहरों पर बमबारी और घेराबंदी के जवाब में उठाया गया कदम बताया है. इससे पहले रविवार को ही हूती विद्रोही नेता अब्दुल मलिक ने कहा था कि वे लोग ज्यादा उन्नत मिसाइलों का इस्तेमाल करेंगे ताकि अमेरिकी रक्षा प्रणाली को भेदकर सऊदी अरब को निशाना बनाया जा सके.

सऊदी अरब के नेतृत्व वाली गठबंधन सेना यमन के राष्ट्रपति अबेदरब्बो मंसूर हादी की तरफ से हूती विद्रोहियों के खिलाफ लड़ रही है. यह लड़ाई मार्च 2015 में शुरू हुई थी. रविवार को इसकी तीसरी वर्षगांठ थी. यमन के इस गृह युद्ध में सऊदी अरब के शामिल होने के बाद से यहां से हजारों लोग मारे गए हैं, जबकि लाखों लोगों को बेघर होना पड़ा है.