केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं और 12वीं की परीक्षा के पेपर लीक होने से जुड़ी खबर लगातार दूसरे दिन अखबारों के पहले पन्ने पर है. गुरुवार को केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण बताया. उन्होंने इसमें किसी संगठित गिरोह का हाथ होने की आशंका भी जताई है. उधर, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर परीक्षा माफिया को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने प्रकाश जावड़ेकर और सीबीएसई प्रमुख अनीता करवाल को पद से हटाने और हाई कोर्ट के न्यायाधीश से मामले की न्यायिक जांच कराने की मांग की है. इसके अलावा समाजसेवी अन्ना हजारे द्वारा सरकार के आश्वासन के बाद बीती 23 मार्च से जारी अनशन तोड़ने की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है.

न्यायपालिका में सरकारी दखल लोकतंत्र का गला घोटने जैसा है : न्यायाधीश जे चेलमेश्वर

सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीश जे चेलमेश्वर ने मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा को पत्र लिखकर न्यायपालिका में कार्यपालिका के दखल मामले पर विचार करने के लिए पीठ बुलाने की अपील की है. अमर उजाला ने इसे पहले पन्ने पर जगह दी है. अखबार के मुताबिक उन्होंने इस पत्र में न्यायपालिका और सरकार में नजदीकी को लोकतंत्र का गला घोटना जैसा बताया है. न्यायाधीश जे चेलमेश्वर ने इस पत्र में कहा है कि शीर्ष अदालत की एक पूर्ण पीठ को इस पर बहस करनी चाहिए कि क्या न्यायपालिका का कोई मतलब बचा है. उनके मुताबिक मुख्य न्यायाधीश से सचिवालय के विभागीय अध्यक्ष जैसा बर्ताव करने की अपेक्षा की जा रही है. बताया जाता है कि इस पत्र को अन्य 22 न्यायाधीशों को भी भेजा गया है.

कांग्रेस के नेतृत्व में ही विपक्षी पार्टियों का गठबंधन बन सकता है : रणदीप सुरजेवाला

कांग्रेस ने साफ किया है कि उसके बिना भाजपा विरोधी गठबंधन का विचार हवा-हवाई है. राजस्थान पत्रिका में छपी खबर के मुताबिक कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सबसे बड़े विपक्षी दल के नेतृत्व में ही विपक्षी पार्टियों का गठबंधन बन सकता है. उनका आगे कहना था कि ऐसा न होने पर कांग्रेस गठबंधन में शामिल नहीं होगी. अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि कोई मोर्चा न बनने पर पार्टी राज्यों में सक्रिय अन्य छोटी पार्टियों से गठबंधन कर चुनावी मैदान में उतरेगी.

डेंगू से मौत के मामले में मेदांता अस्पताल ने पीड़ित परिवार को 16 लाख रु वापस किए

डेंगू से सात वर्षीय आद्या सिंह की मौत मामले में हरियाणा के गुरुग्राम (गुड़गांव) स्थित मेदांता अस्पताल के खिलाफ की गई शिकायत वापस ले ली गई है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक आद्या के पिता गोपेंद्र सिंह परमार ने यह कदम अस्पताल द्वारा इलाज के 15.9 लाख रुपये वापस करने के बाद उठाया है. बताया जाता है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पत्र लिखे जाने के बाद मेदांता के अध्यक्ष डॉ. नरेश त्रेहन ने यह फैसला किया. इस पत्र में पीड़ित परिवार के गरीब होने का हवाला देकर बिल के पैसे वापस करने की अपील की गई थी. हालांकि, हरियाणा सरकार द्वारा गठित मेडिकल बोर्ड ने अस्पताल के खिलाफ दर्ज मामले पर अपनी रिपोर्ट बीती पांच मार्च को सौंप दी है.

एयर इंडिया ने बीते साल अपना घाटा 3546 करोड़ रुपये कम करके दिखाया : सीएजी

सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया ने बीते साल अपना घाटा कम करके दिखाया है. बिजनेस स्टैंडर्ड ने नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट के हवाला से यह खबर दी है. इस रिपोर्ट को बीते बुधवार को संसद में पेश किया गया था. इसके मुताबिक एयर इंडिया ने साल 2017 में अपना घाटा 3546 करोड़ रुपये कम दिखाया है. सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह आंकड़ा अधिक होना चाहिए. उधर, एयर इंडिया ने घाटा कम करके दिखाने से इनकार किया है. कंपनी का कहना है कि उसने अकाउंटिंग को लेकर किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं किया है. बीते साल एयर इंडिया ने 21,100 करोड़ रुपये के राजस्व पर कुल घाटा 5760 करोड़ रुपये दिखाया था.