पश्चिम बंगाल के आसनसोल में सांप्रदायिक हिंसा जारी है. गुरुवार को हिंसक झड़प में यहां दो और लोगों की मौत हो गई. रविवार को रामनवमी के दिन शुरू हुई हिंसा से अब तक कुल पांच लोग मारे जा चुके हैं. हिंसा को देखते हुए दिल्ली से तीन दिन का दौरा कर लौटीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सीधे राज्य सचिवालय पहुंचीं और उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक आपात बैठक की.

रविवार से ही आसनसोल का राज्य के बाकी हिस्से से कोई संपर्क नहीं है. प्रशासन ने यहां धारा 144 लगा रखी है और इंटरनेट सेवाओं पर फिलहाल रोक लगी हुई है. हिंसा में हुई मौतों के चलते पूरा शहर सुनसान है. दुकानें बंद हैं और विशेष सुरक्षाबल शहर के हिंसा वाले इलाकों में मार्च निकाल रहे हैं.

इससे पहले गुरुवार को आसनसोल का दौरा करने की कोशिश कर रहे भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो की भी पुलिस से झड़प हो गई थी. इसके बाद उनके खिलाफ दंगा फैलाने और लोकसेवकों को अपना काम करने से रोकने से संबधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. भाजपा और राज्य में सत्ताधारी तृणमूल दोनों एक दूसरे पर दंगों को लेकर राजनीति करने का आरोप लगा रही हैं.