चीन की ताक़तवर सेना इन दिनों मच्छरों से मुकाबले की तैयारी कर रही है. साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के हवाले से आई ख़बरों के मुताबिक चीन ने मच्छरों के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा कर दी है.

बताया जाता है कि चीन की सैन्य प्रयोगशाला ‘बीजिंग इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी’ (बीआईटी) उच्च तकनीक वाला रडार विकसित कर रही है. यह रडार दो किलोमीटर के दायरे में उड़ने वाले एक-एक मच्छर पता लगा सकेगा. यही नहीं इस रडार से इलेक्ट्रो-मैगनेटिक यानी चुंबकीय प्रभाव वाली विद्युत किरणें निकलेंगी जो एक-एक मच्छर को मारकर उसके बारे में तमाम सूचनाएं लेकर लौटेंगी.

इन सूचनाओं में मच्छर की प्रजाति, वह नर था मादा, कितनी तेजी से और किस दिशा में उड़ रहा था आदि शामिल हाेंगी. स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषज्ञों की मानें तो इस रडार के विकसित हो जाने पर मच्छरों के ख़िलाफ़ लड़ाई में एक बड़ा कदम साबित होगा. ख़बर यह भी है कि चीन सरकार इस नए प्रयोग के लिए अब तक 1.29 करोड़ डॉलर (लगभग 83.89 करोड़ रुपए) आवंटित कर चुकी है.