साल 2022 तक देश में बुलेट ट्रेन का सपना हकीकत बनने की उम्मीद है. बुलेट ट्रेन तय वक्त पर शुरू हो इसके लिए परियोजना का काम तेजी से चल रहा है. इस बीच अहमदाबाद के साबरमती में बुलेट ट्रेन का स्टेशन बनाने के लिए नेशनल हाई स्पीड रेलवे कॉरपोरेशन लिमिटेड (एनएचआरसी) ने जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया शुरू करने का फैसला किया है. बुलेट ट्रेन का साबरमती स्टेशन ऐलिवेटेड रूप में बनाया जाएगा. यह पुराने और नए साबरमती रेलवे स्टेशन के बीच में स्थित होगा.

एनएचआरसी के एक अधिकारी के मुताबिक साबरमती स्टेशन से ही ट्रेनों की यात्रा की शुरुआत और समाप्ति होगी. गुजरात के साबरमती से महाराष्ट्र के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (मुंबई) तक की दूरी तय करने में इस ट्रेन को दो घंटे सात मिनट का वक्त लगेगा. वहीं औसत रफ्तार के साथ और बारह स्टेशनों पर रुकने के समय को शामिल करें तो ट्रेन की यात्रा की यह अवधि दो घंटे 58 मिनट की होगी.

एनएचआरसी के प्रवक्ता धनंजय कुमार के मुताबिक इस रूट पर सुबह सात से दस बजे और शाम पांच से नौ बजे के दौरान हर बीस मिनट पर ट्रेन की सुविधा मिलेगी. शुरुआती चरण में चलने वाले ट्रेनों की यात्री क्षमता 750 यात्रियों की होगी जिसे बढ़ाकर 1250 तक किया जाएगा. इसके साथ ही एनएचआरसी के प्रवक्ता कहा है कि शुरुआती योजना के मुताबिक इस रूट पर बुलेट ट्रेन के हर दिन करीब 70 फेरे लगेंगे.