भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कर्नाटक की कांग्रेस सरकार पर हत्यारों के खिलाफ कार्रवाई न करने का आरोप लगाया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार शुक्रवार को मैसूर में उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा के 24 से ज्यादा कार्यकर्ताओं मारे गए, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की, वे सभी आजाद घूम रहे हैं. भाजपा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि सिद्धारमैया सरकार का अंत करीब है, सत्ता में आने पर भाजपा सभी को न्याय दिलाएगी.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जुबान फिसलने से हुई चूक का मजाक बनाने के लिए भी कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘मैं गलती से सिद्धारमैया की जगह येद्दियुरप्पा सरकार को सबसे भ्रष्ट बता गया. इस पर कांग्रेस ने आनंद लेना शुरू कर दिया. मैं राहुल गांधी को बताना चाहता हूं कि मुझसे गलती हो सकती है, लेकिन कर्नाटक की जनता नहीं.’ भाजपा अध्यक्ष ने शुक्रवार को मैसूर पैलेस में पूर्व राजपरिवार के सदस्यों से भी मुलाकात की थी. उनके साथ बीएस येद्दियुरप्पा और केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार भी मौजूद थे.

इससे पहले गुरुवार को मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने ‘अहिंदू’ (गैर-हिंदू) कहने पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की आलोचना की थी. मैसूर में उन्होंने कहा था, ‘अमित शाह एक जैन हैं. उन्हें बताना चाहिए कि वे अहिंदू हैं या नहीं. जैन एक अलग धर्म है. वे मेरे बारे में ऐसे कैसे बात कर सकते हैं.’ सिद्धारमैया ने यह भी कहा कि अमित शाह उनसे डरे हुए हैं, इसलिए बेबुनियाद आरोप लगा रहे हैं. कर्नाटक में विधानसभा की 224 सीटों के लिए 12 मई को मतदान होना है.