कर्नाटक पुलिस की साइबर क्राइम ब्रांच ने गुरुवार को वेबसाइट पोस्टकार्ड न्यूज के सह-संस्थापक और संपादक महेश विक्रम हेगड़े को गिरफ्तार कर लिया है. एनडीटीवी के मुताबिक उन पर फर्जी और सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील खबरें प्रकाशित करने का आरोप है. पुलिस ने साइबर क्राइम की धाराओं के साथ धार्मिक विद्वेष फैलाने और साजिश रचने जैसी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

संपादक महेश विक्रम हेगड़े की गिरफ्तारी 19 मार्च को उनकी वेबसाइट के ट्विटर हैंडल से एक जैन मुनि के बारे में किए गए ट्वीट के आधार पर की गई है. इसमें कहा गया था, ‘बहुत बुरी खबर है. कल कर्नाटक में जैन मुनि पर एक मुस्लिम युवक ने हमला कर दिया. सिद्धारमैया सरकार में कोई भी सुरक्षित नहीं है.’ इसके साथ जैन मुनि उपाध्याय मयंक सागर जी महाराज की एक फोटो भी साझा की गई थी, जिनमें उनके एक हाथ में चोट दिखाई दे रही थी. इसे कई लोगों ने साझा किया था.

हालांकि, पुलिस का कहना है कि जैन मुनि एक सड़क हादसे में घायल हो गए थे. 11 मार्च को एक युवक ने बाइक से उन्हें और उनके एक अनुयायी को ठोकर मार दी थी. वहीं, वेबसाइट ऑल्टन्यूज के हवाले से द हिंदू ने बताया है कि पोस्टकार्ड न्यूज के संपादक महेश विक्रम हेगड़े ने जैन मुनि की फोटो उनके आश्रम की बेवसाइट से ली थी, जिसे जैन मुनि के एक सड़क हादसे में घायल होने की सूचना के साथ प्रकाशित किया गया था. महेश विक्रम हेगड़े के खिलाफ फर्जी चलाने की यह शिकायत कांग्रेस के एक नेता ने की थी. हालांकि, भाजपा ने महेश विक्रम हेगड़े की गिरफ्तारी की निंदा की है और उन्हें रिहा करने की मांग की है.