केंद्रीय मंत्री और रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के अध्यक्ष रामदास अठावले ने उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा के गठबंधन से आगामी लोकसभा चुनाव में भाजपा को नुकसान होने की बात कही है. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार शुक्रवार को उन्होंने कहा, ‘सपा-बसपा गठबंधन से भाजपा और सहयोगी दलों को 25-30 सीटों का नुकसान हो सकता है, लेकिन एनडीए को 50 से ज्यादा सीटें मिलेंगी.’ उन्होंने आगे कहा कि सीटों की यह कमी दूसरे राज्यों से पूरी हो जाएगी और केंद्र में दोबारा एनडीए की ही सरकार बनेगी.

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भरोसा जताते हुए केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि उनका कोई मुकाबला नहीं कर सकता है, न तो राहुल गांधी, न अखिलेश यादव और न ही बसपा प्रमुख मायावती. उन्होंने बसपा प्रमुख मायावती को एनडीए में शामिल होने का न्योता दिया. उत्तर प्रदेश के हालिया राज्य सभा चुनाव के बारे में रामदास अठावले ने कहा कि बसपा उम्मीदवार इसलिए हार का सामना करना पड़ा, क्योंकि सपा विधायकों ने उन्हें अपना वोट नहीं दिया. देश में दलितों के उत्पीड़न पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह अभी भी जारी है, लेकिन इसके लिए भाजपानीत केंद्र सरकार जिम्मेदार नहीं है.

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं. इनमें से 2014 के आम चुनाव में भाजपा और सहयोगी दलों को 73 सीटें मिली थीं. हालांकि, हालिया लोकसभा उपचुनाव में गोरखपुर और फूलपुर सीटों पर सपा ने बसपा की मदद से भाजपा को हरा दिया था. ये दोनों सीटें मुख्यमंत्री आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के इस्तीफे से खाली हुई थीं. सपा-बसपा अगले चुनाव में साथ आने का संकेत दे रहे हैं. इसे भाजपा के लिए चुनौती माना जा रहा है.