संसद के बजट सत्र का दूसरा हिस्सा पूरी तरह हंगामे की भेंट चढ़ता दिखाई दे रहा है. द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार सोमवार को कावेरी नदी प्रबंधन बोर्ड की मांग को लेकर एआईएडीएमके ने लोक सभा और राज्य सभा में जमकर हंगामा किया. इसके बाद दोनों सदनों की कार्यवाही मंगलवार तक के लिए स्थगित हो गई. वहीं, आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग कर रहे तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के सांसदों ने काली पट्टी बांधकर अपनी-अपनी सीटों पर खड़े होकर प्रदर्शन किया.

लोक सभा में हंगामे और प्रदर्शन के चलते लगातार 18वें दिन कोई कामकाज नहीं हो पाया. चार दिन की छुट्टी के बाद सोमवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने पर एआईएडीएमके सांसदों ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन की कुर्सी के सामने आकर नारेबाजी शुरू कर दी. इसके चलते लोक सभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही पहले दोपहर 12 बजे तक, फिर कल तक के लिए स्थगित कर दी.

लोक सभा में सरकार के खिलाफ टीडीपी, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी, कांग्रेस और सीपीआई(एम) के अविश्वास प्रस्ताव लंबित हैं. लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने सदन में हंगामे के चलते इन्हें चर्चा के लिए स्वीकार नहीं किया है. रविवार को एआईएडीएमके ने भी चेतावनी दी है कि वह कावेरी जल विवाद मामले में अपनी मांग को लेकर सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने से नहीं हिचकेगी. इससे बजट सत्र के आखिरी हफ्ते में भी गतिरोध बने रहने की आशंका बढ़ गई है.