सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (सीजेआई) दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग चलाने की मुहिम में कांग्रेस पार्टी आगे बढ़ती दिख रही है. उसने इसके लिए अपने राज्यसभा सांसदों के हस्ताक्षर समर्थन स्वरूप ले लिए हैं. हालांकि अभी इस मुद्दे पर कांग्रेस अन्य विपक्षी दलों से व्यापक सहमति मिलने का इंतजार कर रही है. हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक पार्टी के तीन नेताओं ने यह जानकारी दी है.

खबर के मुताबिक विपक्षी खेमा अभी तक करीब 65 सांसदों के हस्ताक्षर प्राप्त कर चुका है. बताया जा रहा है कि एनसीपी, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी इस मुद्दे पर कांग्रेस का समर्थन कर रही हैं. हालांकि कांग्रेस का औपचारिक रुख यह है कि महाभियोग के मामले में पार्टी के अंदर बातचीत चल रही है, लेकिन नाम नहीं जाहिर होने की शर्त पर कांग्रेस के एक वरिष्ठ सांसद का कहना है, ‘पिछले हफ्ते हमने (सांसदों ने) दो प्रस्तावों से संबंधित कोरे कागजों पर हस्ताक्षर दिए थे. एक सीजेआई के खिलाफ महाभियोग चलाने और दूसरा एससी-एसटी एक्ट को लेकर सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के संबंध में.’

एक और कांग्रेस नेता ने नाम नहीं बताने की शर्त पर बताया, ‘50 से ज्यादा सांसद हस्ताक्षर कर चुके हैं लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष (राहुल गांधी) इस मुद्दे पर विपक्ष से और ज्यादा समर्थन चाहते हैं.’ उधर, टीडीपी, डीएमके और बीजेडी जैसे तीन महत्वपूर्ण क्षेत्रीय दल अभी तक इस मुद्दे पर कांग्रेस से दूरी बनाए हुए हैं. इस पर पार्टी के एक रणनीतिकार का कहना है कि इन पार्टियों को साथ लाने की कोशिशें की जा रही हैं. वहीं, सांसदों के हस्ताक्षरों वाली लिस्ट में बदलाव हो सकते हैं क्योंकि मंगलवार को कुछ सांसद रिटायर हो रहे हैं. ऐसे में उनके नाम लिस्ट से हटाने होंगे.