डोनाल्ड ट्रंप द्वारा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को अमेरिका आने का न्योता देने के बावजूद दोनों नेताओं की इस मुलाकात को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है. इस बारे में सोमवार को एक रूसी अधिकारी यूरी उशकोव ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह न्योता बीते महीने दिया था, लेकिन तब से दोनों देशों ने इस दिशा में कोई कदम आगे नहीं बढ़ाया है. व्लादिमीर पुतिन को रूस का फिर से राष्ट्रपति चुने जाने पर 20 मार्च को डोनाल्ड ट्रंप ने उन्हें फोन कर बधाई दी थी. इसी दौरान उन्होंने पुतिन को अमेरिका आने का न्योता दिया था.

यूरी उशकोव ने आगे कहा कि इससे पहले कि दोनों नेताओं की मुलाकात होती, ब्रिटेन में एक पूर्व रूसी जासूस और उसकी बेटी पर जानलेवा हमला हो गया. इसके बाद अपने सहयोगी ब्रिटेन के समर्थन में अमेरिका ने रूसी राजनयिकों को निष्कासित करने का फैसला कर लिया. इस घटनाक्रम के बाद दोनों देशों के आपसी संबंधों में नया मोड़ आ गया है. इस सबके बावजूद यूर उशकोव ने दोनों देशों के बीच बातचीत की उम्मीद जताई है. उन्हें आशा है कि दोनों नेताओं की आपसी बैठक व बातचीत के ठोस नतीजे निकलेंगे.

उधर, व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने भी इस बात की पुष्टि की है कि बीते महीने डोनाल्ड ट्रंप ने रूसी राष्ट्रपति को अमेरिका आने का निमंत्रण दिया था. उनका कहना है कि दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्ष व्हाइट हाउस या फिर अमेरिका में ही किसी दूसरी जगह पर बैठक करके द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं.