‘भाजपा न तो आरक्षण खत्म करेगी, न ही किसी को इसे खत्म करने देगी.’

— अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का यह बयान विपक्ष पर आरक्षण खत्म करने का झूठा प्रचार करने का आरोप लगाते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘बाबा साहेब ने जैसी आरक्षण नीति बनाई थी, उसमें जरा सा भी बदलाव नहीं किया जाएगा.’ एससी-एसटी एक्ट को लेकर सोमवार को भारत बंद के दौरान हिंसा के लिए विपक्ष को जिम्मेदार ठहराते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘जब हमने (केंद्र) कह दिया था कि हम सुप्रीम कोर्ट में समीक्षा याचिका लगाएंगे तो कांग्रेस और अन्य दलों ने भारत बंद क्यों बुलाया?’ सोमवार को भारत बंद के दौरान हिंसा में कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई थी.

‘हिंदी बोलिए, व्याकरण की गलतियों की चिंता मत करिए.’

— एम वेंकैया नायडू, राज्य सभा के सभापति और उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का यह बयान दक्षिण भारत के राज्य सभा सांसदों से हिंदी बोलने की अपील करते हुए आया. उन्होंने कहा, ‘आप लोग संसद सदस्य है. निसंकोच हिंदी बोलिए. राजा कभी गलत नहीं हो सकता है.’ वेंकैया नायडू ने यह भी कहा कि वे जब दिल्ली आए थे तो हिंदी नहीं बोल पाते थे, लेकिन बोलते-बोलते सीख गए. उपराष्ट्रपति ने उत्तर भारतीयों को दक्षिण की भाषाओं को सीखने की भी सलाह दी क्योंकि क्षेत्रीय एकता को मजबूत करने का यही एक रास्ता है.


‘मंत्री का दर्जा ठगों को नहीं दिया गया है.’

— उमा भारती, केंद्रीय मंत्री

केंद्रीय मंत्री उमा भारती का यह बयान मध्य प्रदेश में संतों को राज्यमंत्री का दर्जा दिए जाने पर आया. उन्होंने कहा कि भारतीय समाज में संतों का हमेशा सम्मान किया जाता रहा है. उमा भारती आगे कहा, ‘संतो को राज्य मंत्री का दर्जा देने के लिए मैं शिवराज सिंह चौहान की प्रशंसा और इसका विरोध करने के लिए कांग्रेस की निंदा करती हूं.’ मध्य प्रदेश सरकार ने नर्मदा संरक्षण के लिए बनाई गई समिति के सदस्य संतों को राज्य मंत्री का दर्जा दिया है. कांग्रेस ने इसे चुनावी चाल बताया है.


‘सीरिया में इस्लामिक स्टेट तबाह हो चुका है.’

— व्लादिमीर पुतिन, रूस के राष्ट्रपति

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का यह बयान सीरिया में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के खिलाफ जारी जंग को लेकर आया. उन्होंने कहा, ‘इस्लामिक स्टेट कमजोर होने के बावजूद तेजी से रणनीति बदलने में सक्षम है.’ व्लादिमीर पुतिन के मुताबिक इस्लामिक स्टेट अभी भी दुनिया में कहीं भी हमला कर सकता है. उन्होंने यह भी कहा कि सीरिया को दी जाने वाली मानवीय सहायता के राजनीतिकरण को स्वीकार नहीं किया जा सकता है. रूस के राष्ट्रपति मुताबिक सीरिया से आतंकवाद का खत्मा आखिरी गोल होगा.