ब्रिटेन में पूर्व रूसी जासूस सर्गेई स्क्रिपल को जहर दिए जाने के मामले में रूस और पश्चिमी देशों के बीच कूटनीतिक खाई चौड़ी होती जा रही है. इस घटना के लिए ब्रिटेन ने रूस को जिम्मेदार बताया था. अब रूस ने ब्रिटेन पर आरोप लगाया है कि वह इस घटना के बहाने मनगढंत कहानी बना रहा है. बीबीसी की खबर के मुताबिक न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र परिषद (यूएनएससी) की बैठक के दौरान रूस ने कहा है कि ब्रिटेन आग से खेल रहा है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक सर्गेई स्क्रिपल पर हमले के बाद पैदा हुए तनाव के मद्देनजर रूस ने यह बैठक बुलाई थी. इस दौरान रूस के प्रतिनिधि वेसिली नेबन्जा ने ब्रिटेन पर आरोप लगाया कि उसका मकसद रूस पर बेबुनियाद आरोप लगाकर उसे बदनाम करना है जबकि उसके पास कोई सबूत नहीं है कि सर्गेई पर हमला रूस ने करवाया था. रूस ने दावा किया कि हमले के लिए ब्रिटेन जिस नोविचोक नर्व एजेंट का जिक्र कर रहा है वह केवल रूस के पास नहीं हैं. नेबन्जा ने इस बैठक में कहा है, ‘हालांकि इसका नाम रूसी है, लेकिन इसे कई देशों ने बनाया है.’

उधर, संयुक्त राष्ट्र में ब्रिटेन की राजदूत कैरन पीयर्स ने कहा कि उनके द्वारा लगाए गए सभी आरोपों की जांच की जा सकती है. उन्होंने रूस को जवाब देते हुए कहा कि इस मामले की जांच में उसका हिस्सा लेना कुछ वैसा ही है जैसे कोई आग लगाने वाला उसके कारणों की जांच करे. पीयर्स के मुताबिक इस मामले में रूस पर शक करने की कई वजहें हैं. उन्होंने कहा, ‘रूसी सरकार इस तरह की हत्याएं कराती रही है. जो उसकी बात न माने वह उन्हें अपना निशाना बनाती है.’ यहां ब्रिटेन को अमेरिकी दूत केली क्यूरी का साथ भी मिला. उन्होंने बैठक में कहा कि रूस राजनीतिक फायदों के लिए यूएनएससी का इस्तेमाल कर रहा है जो सही नहीं है.