दक्षिण कोरिया की एक अदालत ने वहां की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्वेन हे को भ्रष्टाचार, सत्ता के दुरुपयोग और रिश्वतखोरी जैसे 16 मामलों में दोषी ठहराया है. इसके लिए उन्हें 24 साल जेल की सजा सुनाई गई है. इसके साथ उन पर 18 अरब वॉन (दक्षिण कोरियाई मुद्रा) का जुर्माना भी लगाया गया है. यह तीसरा मौका है जब दक्षिण कोरिया के किसी नेता को अदालत ने भ्रष्टाचार के आरोपों में दोषी ठहराया है.

द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सजा सुनाए जाने से जुड़ी अदालत की इस कार्यवाही को वहां के टेलीविजन चैनलों पर भी प्रसारित किया गया है. हालांकि इस दौरान पूर्व राष्ट्रपति खुद कोर्ट नहीं पहुंची थीं. कोर्ट के बाहर बड़ी संख्या में उनके समर्थक जरूर मौजूद थे. ये सभी ग्वेन हे की रिहाई की मांग कर रहे थे.

पार्क ग्वेन हे 2013 में दक्षिण कोरिया की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं थीं. पद के गलत इस्तेमाल और भ्रष्टाचार के आरोप में उन पर दिसंबर 2016 में म​हाभियोग चलाया गया था. वहीं बीते साल मार्च में उन्हें पद से हटा दिया गया था और इसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई थी.