रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक होने की खबर आज सोशल मीडिया पर दोपहर से ही ट्रेंड कर रही है. इस खबर को शेयर करते हुए कई लोगों ने भारत में साइबर सुरक्षा की स्थिति पर चिंता जताई है. ट्विटर हैंडल @sidmtweets पर टिप्पणी है, ‘... अप्रैल 2017 से जनवरी 2018 के बीच 114 सरकारी वेबसाइटें हैक हुई हैं. डिजिटल इंडिया पर तमाम बड़े-बड़े दावों के बावजूद साइबर सुरक्षा के मामले में इस सरकार का रिकॉर्ड बहुत ही बुरा है.’

सोशल मीडिया में इस खबर के हवाले से ‘आधार’ से संबंधित निजी जानकारियों की सुरक्षा के मसले पर भी खूब प्रतिक्रियाएं आई हैं. इसके साथ ही यहां सरकार को भी घेरा गया है. फेसबुक पर समर अनार्य ने लिखा है, ‘संदिग्ध चीनी हैकरों ने रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक की. पर आप घबराइयेगा मत. रक्षा मंत्रालय का डेटा बचा पाये न पाये, मोदी सरकार ने आपका आधार डेटा गोबर पुताई की अतिरिक्त सुरक्षा के साथ 10 फ़ुट मोटी दीवार के पीछे रखा है.’

सोशल मीडिया में इस खबर पर आई कुछ और प्रतिक्रियाएं :

धर्म राज | @raaz_dharm

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट इसलिए हैक हुई क्योंकि वो आधार कार्ड से कनेक्ट नहीं थी.

सेंट सिनर | @retheeshraj10

मध्य प्रदेश में नए मंत्री का शपथ ग्रहण समारोह :

इरशाद राजपूत | @Irajput71

किसी ने रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक कर ली है. अंध भक्त (भाजपा समर्थक) - इसके लिए भी नेहरू ही जिम्मेदार हैं.

सैलेंट रिजवान | @Rizwan_Sailent

जिस देश में रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक हो जाए उस वहां डिजिटल इंडिया का सपना वैसे ही जैसे गंजे के सिर पर बाल उगाना.

दिल से देश | @Dilsedesh

रक्षा मंत्रालय की वेबसाइट हैक होने पर भक्तों (भाजपा समर्थकों) का जवाब – ऐसा तो 1962 से होता आ रहा है.