उन्नाव रेप मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं. बुधवार को सुप्रीम कोर्ट और उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सेंगर को एक के बाद एक झटके दिए. आज सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले की सीबीआई जांच कराने की अपील पर सुनवाई करने की हामी भर दी है. एक वकील ने यह याचिका लगाई थी. कोर्ट में अगले हफ्ते इस पर सुनवाई होगी. इसके साथ ही इलाहाबाद हाई कोर्ट ने भी इस मामले का स्वत: संज्ञान लेते हुए इस पर सुनवाई के निर्देश दिए हैं. यह सुनवाई कल यानी 12 अप्रैल को होगी.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक इसके लिए कोर्ट ने अपनी तरफ से एक वकील (न्यायमित्र या एमिकस क्यूरी) भी नियुक्त कर दिया है.

इस मामले में पीड़िता ने बीते रविवार को अपने परिवार के सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्महत्या करने का प्रयास किया था. तब उसने मीडिया को बताया था कि पिछले साल भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने उससे बलात्कार किया था. हालांकि इस घटना के बाद पुलिस ने आरोपित विधायक पर कार्रवाई करने के बजाय बीते उसी दिन पीड़िता के पिता को ही गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस हिरासत के दौरान उन्होंने पेट में दर्द और उलटी की शिकायत की थी. इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया और इलाज के दौरान ही सोमवार को उनकी मौत हो गई. इस मामले में सेंगर के भाई अतुल सिंह पर पीड़िता के पिता के साथ मारपीट का आरोप है और उसे हाल ही में पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

उधर, आरोपित विधायक की अभी तक की गिरफ्तारी नहीं हुई है. उनकी पत्नी संगीता सेंगर का कहना है कि उनके पति निर्दोष हैं. उन्होंने कहा है कि अगर इस मामले में कुलदीप सिंह सेंगर दोषी ठहराए गए तो उनका परिवार आत्महत्या कर लेगा. संगीत ने आरोप लगाया है कि इस मामले के सबूत छुपाए जा रहे हैं जो सही नहीं है.