21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में पुरुष वर्ग की हॉकी स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने का भारत का सपना टूट गया है. सेमी फाइनल में भारत को न्यूजीलैंड से हार का सामना करना पड़ा है. अब कांस्य पदक के लिए शनिवार को भारत का मुकाबला ब्रिटेन या फिर आॅस्ट्रेलिया से होगा. शुक्रवार को हुए इस मुकाबले में न्यूजीलैंड की तरफ से तीन गोल हुए. भारत सिर्फ दो गोल ही कर सका. यह दोनों गोल हरमनप्रीत सिंह ने किए.

इस मैच के पहले क्वार्टर से ही भारत दबाव में दिखा. न्यूजीलैंड ने सातवें मिनट में पहला और फिर 13वें मिनट में भारत पर दूसरा गोल दाग दिया. दूसरे क्वार्टर में भारत ने वापसी की और पैनल्टी स्ट्रोक के जरिये न्यूजीलैंड पर एक गोल ठोंका. तीसरे क्वार्टर के 15वें मिनट में न्यूजीलैंड ने तीसरा गोल किया. तीसरा क्वार्टर खत्म होने के वक्त स्कोर 3-1 था.

चौथे क्वार्टर के आखिरी मिनटों में भारत ने एक पैनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील किया. इससे भारत की उम्मीदें कुछ मजबूत हुईं. इसके बाद अंतिम क्षणों तक भारत ने गोल करने के मौके तलाशे. लेकिन न्यूजीलैंड की रक्षा पंक्ति को भेद पाने में इसे सफलता नहीं मिली. इस तरह न्यूजीलैंड ने मुकाबला जीत लिया.

उधर टेबल टेनिस में भी महिलाओं की युगल टीम को रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा. इस स्पर्धा के फाइनल मुकाबले में मनिका बत्रा और मौमा दास की जोड़ी सिंगापुर की मेंगयू य और तियानवेई फेंग पर जीत दर्ज करने में नाकामयाब रही. सिंगापुर की टीम ने शानदार खेल दिखाते हुए स्वर्ण पदक जीता. हालांकि इससे पहले टेबल टेनिस के अन्य मुकाबले में भारत की महिला टीम को स्वर्ण पदक जीतने में सफलता मिली थी.

गोल्ड कोस्ट में चल रहे इन गेम्स में भारत को अब तक 42 पदक जीतने में कामयाबी मिली है. इनमें 17 स्वर्ण, 11 रजत और 14 कांस्य पदक शामिल हैं. पदक तालिका में कुल 168 पदकों के साथ आॅस्ट्रेलिया शीर्ष पर बना हुआ है. इसने अब तक 65 स्वर्ण 49 रजत आौर 54 कांस्य जीतने में सफलता पाई है. दूसरे स्थान पर ब्रिटेन है. 31 स्वर्ण 34 रजत और 33 कांस्य के साथ इसने कुल 98 पदक जीते हैं.