उन्नाव और कठुआ सामूहिक बलात्कार मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को पहली बार अपनी चुप्पी तोड़ी. उन्होंने नई दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में इन घटनाओं को शर्मनाक बताते हुए पूरा न्याय होने की बात कही. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं. मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि कोई अपराधी नहीं बचेगा, न्याय होगा और पूरा होगा. हमारी बेटियों को न्याय मिलकर रहेगा.’ इससे पहले इन मामलों पर अपनी चुप्पी को लेकर प्रधानमंत्री, विपक्ष सहित आम लोगों के निशाने पर थे.

तमिलनाडु : लोकगायक कोवान प्रधानमंत्री की कथित आलोचना करने के मामले में गिरफ्तार

तमिलनाडु स्थित लोकगायक कोवान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित आलोचना करने को लेकर गिरफ्तार किया गया है. नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक कोवान पर पुलिस ने दंगे भड़काने और शांति का उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया है. बताया जाता है कि उन्होंने कावेरी मुद्दे पर किए गए विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की आलोचना में एक गाना गाया था. यह गाना बाद में वायरल हो गया. उधर, पुलिस का कहना है कि उसे स्थानीय भाजपा युवा शाखा की ओर से इस बारे में शिकायत मिली थी.

कर्नाटक चुनाव की तारीख लीक मामले में गठित जांच समिति ने सभी पक्षों को क्लीन चिट दी

कर्नाटक चुनाव की तारीख लीक मामले में गठित जांच समिति ने सभी पक्षों को क्लीन चिट दे दी है. द हिंदू में छपी खबर के मुताबिक चुनाव आयोग द्वारा गठित समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह तारीखें लीक होने का मामला नहीं था. समिति ने टीवी न्यूज चैनल टाइम्स नाउ की प्रतिक्रिया के आधार पर कहा है कि जो खबर चलाई गई थी, वह पूरी तरह सही नहीं थी. इसे देखते हुए ही बीती 27 मार्च को चुनावी तारीख से संबंधित खबर को केवल अनुमान कहा जा सकता है. इसके अलावा समिति ने राजनीतिक दलों से भी कहा है कि जब आयोग चुनाव की तारीखें घोषित करने वाला हो तब इस तरह के ट्वीट से बचा जाना चाहिए. टाइम्स नाउ और भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने चुनाव आयोग से पहले कर्नाटक चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया था.

हरियाणा : इलाज में लापरवाही बरतने के आरोप में फोर्टिस अस्पताल के दो डॉक्टर गिरफ्तार

हरियाणा पुलिस ने इलाज में लापरवाही बरतने के आरोप में गुड़गांव स्थित फोर्टिस अस्पताल के दो डॉक्टरों, कार्डियोलॉजी कंसलटेंट डॉ. एसएस मूर्ति और मेडिकल ऑफिसर डॉ. वज्जा नागार्जुन, को गिरफ्तार किया है. दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर के मुताबिक आरोपितों के खिलाफ यह कार्रवाई मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के नेतृत्व में गठित मेडिकल नेग्लिजेंसी बोर्ड की रिपोर्ट आने के बाद की गई है. हालांकि, दोनों को गिरफ्तार किए जाने के कुछ देर बाद ही जमानत मिलने की भी खबर है. बताया जाता है कि सीमा घई नाम की 51 वर्षीय महिला को इलाज के लिए फोर्टिस अस्पताल लाया गया था. उन्हें दिल की बीमारी थी. अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत को लेकर उनके पति का आरोप था कि पत्नी दर्द से तड़प रही थी लेकिन, डॉक्टरों ने वक्त रहते उसे इमरजेंसी लाइफ सेविंग मेडिसिन नहीं दी.

भारतीय रेलवे ने सुरक्षा बढ़ाने के लिए कई ट्रेनों की रफ्तार कम की

भारतीय रेलवे ने सुरक्षा बढ़ाने के लिए कई ट्रेनों की रफ्तार कम कर दी है. इस वजह से करीब 35 फीसदी रेलगाड़ियां देरी से चल रही हैं. बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने बताया कि देश में 65 फीसदी ट्रेनें समय पर चलती हैं. बाकी की 35 फीसदी ट्रेनों के परिचलन में देरी जरूर होती है. इसके आगे उन्होंने कहा कि इस वक्त रेलवे सुरक्षा पर सबसे ज्यादा ध्यान दे रहा है जिसकी वजह से भी ट्रेनों की रफ्तार कम हुई है. इसके अलावा बताया जाता है कि दुर्घटनाएं कम करने के लिए भी रेल मंत्रालय बुनियादी ढांचे पर काफी निवेश कर रहा है. हालांकि, इस बारे में अश्विनी लोहानी का कहना था, ‘रेलवे में सबसे अधिक जरुरत बुनियादी ढांचे पर जोर देने की है. बीते वर्षों के दौरान ट्रेनों की तादाद 2.5 गुना बढ़ी है, जबकि उस अनुपात में रेलवे ट्रैक नहीं बढ़ पाए हैं.’