21वें कॉमनवेल्थ गेम्स के 10वें दिन भारत ने स्वर्णिम शुरुआत की है. देश को पहला स्वर्ण पदक स्टार बॉक्सर मैरी कॉम ने दिलाया. उन्होंने 45 से 48 किलो वर्ग में नॉर्दन आयरलैंड की क्रिस्टीना ओकोहारा पर जीत दर्ज की. इस मुकाबले में मैरी कॉम शुरू से ही अपनी प्रतिस्पर्धी पर हावी रहीं थीं. विश्व चैंपियन रह चुकीं मैरी कॉम का कॉमनवेल्थ गेम्स में यह पहला पदक है. दिलचस्प यह है कि इस आयोजन में उन्होंने पहली बार कदम रखा था. अपने पहले ही प्रयास में उन्होंने स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया.

मैरी कॉम के बाद पुरुष वर्ग के बॉक्सिंग मुकाबलों से भी देश के खेल प्रशंसकों के लिए अच्छी खबरें आईं. 52 किलो वर्ग में बॉक्सर गौरव सोलंकी ने निर्णायक मुकाबले में नॉर्दन आयरलैंड के ब्रैंडन इरवाइन को 4-1 से करारी शिकस्त देकर स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. इसके बाद 60 किलो वर्ग में बॉक्सर मनीष कौशिक और 46 से 49 किलो वर्ग में अमित पंघल को रजत पदक जीतने में कामयाबी मिली.

बॉक्सिंग रिंग के साथ शूटिंग रेंज से भी भारत के लिए शानदार खबर आई. संजीव राजपूत ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन में स्वर्ण पदक पर निशाना लगाया. उन्होंने इस मुकाबले में रिकॉर्ड 454.5 अंक हासिल किए.

शनिवार को भारत और ब्रिटेन की महिला हॉकी टीमें भी आपस में भिडीं. दोनों के बीच यह मुकाबला कांस्य पदक को लेकर था. इसमें भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ा. ब्रिटेन ने यह मुकाबला 6-0 से जीत कर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया.

इस हार के बावजूद टेबल टेनिस, स्क्वैश, बैडमिंटन और कुश्ती की स्पर्धाओं से भारत को कई और पदकों की उम्मीद है. आॅस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे इन खेलों में फिलहाल भारत 20 स्वर्ण, 13 रजत और 14 कांस्य पदक जीत चुका है. कुल 47 पदकों के साथ पदक तालिका में वह तीसरे स्थान पर है. आॅस्ट्रेलिया पहले जबकि ब्रिटेन दूसरे स्थान पर बना हुआ है.