केरल में एक निजी बैक के कर्मचारी द्वारा जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची से बलात्कार के बाद उसकी हत्या का समर्थन करने का मामला सामने आया है. इस व्यक्ति का नाम विष्णु नंदकुमार है. बैंक ने उसे नौकरी से बर्ख़ास्त कर दिया है.

द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक विष्णु ने मलयालम में की गई फेसबुक पोस्ट में लिखा था, ‘अच्छा हुआ उसे (कठुआ की बलात्कार पीड़िता बच्ची को) मार दिया गया. नहीं तो कल वह हिंदुस्तान के ख़िलाफ अपना उभरा हुआ पेट (गर्भ) लेकर आ सकती थी.’ हालांकि उसने इस पोस्ट में किसी मामले का ज़िक्र नहीं किया था. लेकिन सोशल मीडिया में तुरंत ही उसकी पोस्ट सुर्ख़ियों में आ गई. लोग उसके साथ-साथ बैंक को भी लानतें भेजने लगे.

विष्णु कोटक महिंद्रा बैंक में काम कर रहा था. सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने यह भी ख़ुलासा करने की कोशिश की कि विष्णु आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) से जुड़ा हुआ है. विरोध बढ़ता देख विष्णु ने अपना फेसबुक पेज निष्क्रिय कर दिया. लेकिन लोगों के कोटक महिंद्रा बैंक पर अपने हमले जारी रखे. उन्होंने बैंक से उसके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की मांग की. ऐसे में बैंक ने भी तुरंत उसे बर्ख़ास्त कर दिया.