कठुआ गैंगरेप-हत्या मामला अब अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बन गया है. देश को हिला देने वाले इस गैंगरेप-हत्याकांड ने संयुक्त राष्ट्र तक का ध्यान खींचा है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुटेरेस ने इस मामले को भयावह बताते हुए उम्मीद जताई है कि आरोपितों को उचित सजा मिलेगी.

इस अपराध में जिस बच्ची के साथ बेहद अमानवीय व्यवहार किया गया वह बकरवाल नाम के खानाबदोश समुदाय से थी. इस साल 10 जनवरी को वह लापता हो गई थी. एक हफ्ते बाद उसका शव जंगल में मिला था. इस घटना से जुड़ीं खबरों पर एंतोनियो गुटेरेस के सचिव स्टीफन दुजेरिक ने कहा, ‘हमने इस भयावह केस से संबंधित मीडिया रिपोर्टें देखी हैं. हमें पूरी उम्मीद है कि अधिकारी अपराधियों को सजा दिलवाएंगे.’

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मामले को देश को शर्मसार करने वाली घटना बताया था. शुक्रवार को उन्होंने कहा था, ‘देश के किसी भी राज्य में, किसी भी क्षेत्र में होने वाली ऐसी वारदातें, हमारी मानवीय संवेदनाओं को झकझोर देती हैं. मैं देश को विश्वास दिलाना चाहता हूं कि कोई अपराधी बचेगा नहीं, न्याय होगा और पूरा होगा.’ वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मसले पर प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा था, ‘यह देखकर हमें दुख होता है कि हमारी बच्चियों का रेप किया जा रहा है और सत्ता में बैठी पार्टी इस पर राजनीति कर रही है. हम न्याय की मांग करते हैं.’