कठुआ बलात्कार और हत्या मामले को लेकर देश भर में आक्रोश के बीच आज सुप्रीम कोर्ट इस मामले से जुड़ी याचिका पर सुनवाई करेगा. यह याचिका आठ साल की उस बच्ची के पिता ने दायर की है जिसके साथ पहले सामूहिक बलात्कार हुआ और फिर उसकी हत्या कर दी गई. इस याचिका में मामले की सुनवाई जम्मू-कश्मीर से बाहर चंडीगढ़ में कराने की अपील की गई है. साथ ही, इसमें पीड़ित परिवार और उसके वकीलों को सुरक्षा मुहैया कराने की मांग भी की गई है.

इस मामले में वकील दीपिका सिंह राजावत ने अपनी हत्या की आशंका जताई है. उनका कहना है कि उन्हें लगातार धमकियां मिल रही हैं. इस घटना के आरोपितों के पक्ष में कठुआ में प्रदर्शन हुए थे. पुलिस अदालत में आरोपपत्र दाखिल करने गई तो उसे वकीलों के एक वर्ग द्वारा रोका भी गया था. इन घटनाओं की भी चौतरफा निंदा हो रही है.

आठ साल की बच्ची के साथ यह घटना जनवरी में हुई थी. आरोपितों ने पहले तो उसे बंधक बनाकर उसके साथ बलात्कार किया और बाद में उसकी हत्या कर दी. इस मामले में अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिनमें तीन पुलिसकर्मी भी हैं. सभी आरोपितों को आज जम्मू की एक अदालत में सुनवाई के लिए पेश किया गया. इस मामले में अगली सुनवाई 28 अप्रैल को होगी.