पेरिस के एक अस्पताल में भर्ती जेरोमे हैमन को इन दिनों ‘तीन चेहरे वाला आदमी’ कहकर बुलाया जा रहा है. यहां तीन महीने पहले उनका चेहरा सर्जरी की मदद से दूसरी बार बदला गया था. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक वे दुनिया के पहले व्यक्ति हैं जिनके चेहरे की दो बार फेस ट्रांसप्लांट सर्जरी (ऐसी सर्जरी जिसमें चेहरा पूरी तरह बदल दिया जाता है) हो चुकी है. दुनियाभर में अब तक ऐसी करीब 40 सर्जरी ही हुई हैं. सबसे पहली सर्जरी 2005 में की गई थी. तब फ्रांस में एक महिला इसाबेल का चेहरा बदला गया था.

जेरोमे हैमन न्यूरोफाइब्रोमेटोसिस टाइप 1 नाम की बीमारी से पीड़ित हैं. यह जीन्स में होने वाला ऐसा गैर-जरूरी बदलाव है जिसकी वजह से व्यक्ति के ट्यूमर विकृत हो जाते हैं या उनसे संबंधित परेशानियां होने लगती हैं. इसी के चलते हैमन का चेहरा बिगड़ गया था. 2010 में उनके चेहरे की पहली ट्रांसप्लांट सर्जरी की गई थी. लेकिन 2016 के दौरान उनके शरीर में सर्जरी से हुए बदलाव अस्वीकृत होने की प्रक्रिया शुरू हो गई और उनका चेहरा बिगड़ गया.

डॉक्टर लॉरेंट लेंतियरी जेरोमी हैमन की सर्जरी के अलग-अलग चरणों की तस्वीर के साथ | फोटो : एएफपी
डॉक्टर लॉरेंट लेंतियरी जेरोमी हैमन की सर्जरी के अलग-अलग चरणों की तस्वीर के साथ | फोटो : एएफपी

फिर पिछले साल उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. तब तक उनका चेहरा इतना विकृत हो चुका था कि डॉक्टरों को उसे हटाना पड़ा. चेहरे को पहचान देने वाले जो भी अंग होते हैं, वे तब उनके चेहरे पर नहीं थे और उन्हें दो महीनों तक ‘बिना चेहरे’ के अस्पताल में रहना. उन्हें दूसरी सर्जरी के लिए तब तक इंतजार करना पड़ा जब तक चेहरा बदलने के लिए उपयुक्त डोनर (मृतक व्यक्ति) नहीं मिला. जाहिर है कि इस दौरान हैमन को काफी तकलीफ से गुजरना पड़ा. फिर इस साल जनवरी में उन्हें एक डोनर मिल गया और उसी समय उनकी फेस ट्रांसप्लांट सर्जरी की गई. यह ऑपरेशन डॉक्टर लॉरेंट लेंतियरी ने किया था.

15 और 16 जनवरी को जेरोमे हैमन के चेहरे की सर्जरी की गई थी. इस दौरान उन्हें कई चरणों की प्रक्रिया से गुज़रना पड़ा. हालांकि इलाज सफल रहा. इस ऑपरेशन की सफलता ने डॉक्टर लेन्तियरी और दुनियाभर के डॉक्टरों को इस सवाल का जवाब दे दिया है कि किसी चेहरे को दो बार सर्जरी करके बदला जा सकता है. फिलहाल हैमन का नया चेहरा सपाट और स्थिर है.