जम्मू-कश्मीर के कठुआ सामूहिक बलात्कार की घटना को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने शर्मनाक बताया है. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. राष्ट्रपति ने राज्य में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘आजादी के 70 साल बीत जाने के बाद देश के किसी भी हिस्से में ऐसी घटना होना शर्मनाक है. हमें सोचना होगा कि आखिर किस तरह का समाज हम विकसित कर रहे हैं.’ उनका आगे कहना था, ‘यह सुनिश्चित करना हमारी जिम्मेदारी है कि किसी भी बच्ची या महिला के साथ आगे फिर कभी ऐसी घटना न हो.’

उधर, इंग्लैंड की राजधानी लंदन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘भारत की बात-सबके साथ’ कार्यक्रम की खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. साल 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘मैंने कहा कि जब भारत को पता चले उससे पहले ही हमें पाकिस्तान को कॉल करके बता देना चाहिए. हम उन्हें सुबह 11 बजे से ही फोन कर रहे थे, लेकिन वे फोन पर आने से भी डरे हुए थे. 12 बजे हमने उनसे बात की और कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक किया है, लाशें उठा ले जाओ.’

बीसीसीआई को आरटीआई के दायरे में लाया जाए : विधि आयोग

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की मुश्किलें बढ़ती हुई दिख रही हैं. विधि आयोग ने केंद्र सरकार से बीसीसीआई को सूचना के अधिकार (आरटीआई) के दायरे में लाने की सिफारिश की है. दैनिक जागरण ने इस खबर को पहली खबर के रूप में जगह दी है. अखबार के मुताबिक आयोग का कहना है कि जब देश के अन्य खेल संघ आरटीआई के दायरे में आते हैं तो बीसीसीआई को इससे बाहर क्यों रखा जाए. साथ ही, विधि आयोग की दलील है कि करों में छूट और सस्ती जमीन हासिल कर बीसीसीआई सैकड़ों करोड़ रुपये के सार्वजनिक संपत्ति का इस्तेमाल कर रहा है. आयोग ने अपनी रिपोर्ट कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को सौंप दी है. इससे पहले जुलाई, 2016 में सुप्रीम कोर्ट ने आयोग से पूछा था कि बीसीसीआई को आरटीआई के तहत लाया जा सकता है या नहीं.

कैंब्रिज एनालिटिका ने कांग्रेस को 2019 के चुनाव को प्रभावित करने के लिए विशेष डेटा बनाने का प्रस्ताव दिया था

फेसबुक डेटा चोरी को लेकर सुर्खियों में आई ब्रिटिश कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका ने कांग्रेस को साल 2019 के चुनाव में मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए विशेष डेटा बनाने का प्रस्ताव दिया था. अमर उजाला में छपी खबर के मुताबिक कंपनी ने इसके लिए पार्टी को 2.5 करोड़ रुपये का खर्च बताया था. अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि कंपनी के सीईओ एलेक्जेंडर निक्स ने कांग्रेस नेतृत्व के सामने यह प्रस्ताव रखा था. साथ ही, उन्होंने राहुल गांधी, जयराम रमेश और पी चिदंबरम से भी मुलाकात की थी. उधर, कांग्रेस डेटा एनालिटिक्स विभाग के प्रमुख प्रवीण चक्रवर्ती ने बताया कि उनकी पार्टी राष्ट्रीय है और कई कंपनियों से प्रस्ताव मिलते हैं. उन्होंने इससे साफ इनकार किया है कि कांग्रेस ने कभी कैंब्रिज एनालिटिका की सेवाएं ली हैं.

ट्रेनों में एसी-2 की जगह एससी-3 कोच लगाने की तैयारी

भारतीय रेलवे घाटे में चल रही एसी-2 कोचों को राजधानी और दूरंतों जैसी ट्रेनों से हटाकर उनकी जगह एसी-3 कोच लगा सकता है. बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक शुरुआत में इसे उन ट्रेनों में किया जाएगा, जिनमें एसी-2 यात्रियों की संख्या कम है. एक अनुमान के मुताबिक रेलवे के इस दायरे में कम से कम 250 कोच आ सकते हैं. इस बारे में एक अधिकारी ने बताया कि एसी-2 से रेलवे को भारी नुकसान हो रहा है. दूसरी ओर, एसी-3 की हमेशा से मांग रही है. बताया जाता है कि एसी-3 के यात्रियों की संख्या सालाना 8.5 करोड़ है. दूसरी ओर एसी-2, एससी-1 और चेयरकार में यात्रा करने वाले यात्रियों की संख्या 5.5 करोड़ ही है.

सीताराम येचुरी ने सीपीएम नेताओं से पार्टी का बंटवारा न करने की अपील की

सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने हैदराबाद में आयोजित कांग्रेस में अपने नेताओं से पार्टी का बंटवारा न करने की अपील की है. द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने 700 से अधिक नेताओं से कहा है कि किसी भी संभावना का रास्ता बंद न करें. सीताराम येचुरी ने कांग्रेस सहित अन्य धर्मनिरपेक्ष पार्टियों के साथ गठबंधन की वकालत भी की. इसके अलावा उनका कहना था कि कांग्रेस के साथ सहयोग आगे उनके साथ गठबंधन के रूप में सामने आ सकता है. लेकिन, कांग्रेस के साथ असहयोग किसी तरह का चुनावी गठबंधन न होने के रूप में बदल सकता है. इससे पहले सीपीएम केंद्रीय कमिटी ने बीते जनवरी में कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर सीताराम येचुरी के प्रस्ताव को 31 के मुकाबले 55 मतों से खारिज कर दिया था. बताया जाता है कि पार्टी का बंगाल कैडर कांग्रेस के साथ गठबंधन के पक्ष में है, जबकि केरल कैडर इसके विरोध में.