राजस्थान के जोधपुर स्थित एक अदालत ने नाबालिग से बलात्कार के दोषी आसाराम को उम्रकैद की सजा सुनाई है. इस खबर को आज के अधिकतर अखबारों ने पहले पन्ने पर जगह दी है. अदालत ने आसाराम के साथ उनके दो सहयोगियों- शिल्पी और शरद को भी 20-20 साल की सजा सुनाई है. दूसरी ओर, दो अन्य आरोपितों को अदालत ने बरी कर दिया. उधर, डेटा लीक मामले में केंद्र सरकार ने फेसबुक और कैंब्रिज एनालिटिका को दूसरा नोटिस जारी किया है. यह खबर भी अखबारों की प्रमुख सुर्खियों में शामिल है. इन दोनों ने पहले नोटिस का जो जवाब केंद्र को भेजा है, उससे सरकार संतुष्ट नहीं है. फेसबुक और कैंब्रिज एनालिटिका को इस नोटिस का जवाब 10 मई तक देना है.

नफरत फैलाने वाले भाषण देने के मामले में भाजपा अन्य दलों के मुकाबले कहीं आगे

देश में लोगों के बीच नफरत फैलाने वाले भाषण देने के मामले में भाजपा अन्य दलों के मुकाबले कहीं आगे खड़ी है. एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के हवाले से नवभारत टाइम्स में छपी खबर में यह जानकारी दी गई है. रिपोर्ट के मुताबिक सभी राजनीतिक दलों के 58 सांसद और विधायक इसमें संलिप्त हैं. इनमें सबसे अधिक (27) भाजपा के हैं. इसके बाद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम और टीआरएस के छह-छह जनप्रतिनिधियों ने अपने खिलाफ इस तरह के मामले दर्ज होने की बात स्वीकार की है. लोक सभा सांसदों में से कुल 10 के खिलाफ नफरत फैलाने वाला भाषण देने का मामला दर्ज है. दूसरी ओर, राज्य सभा में ऐसे सांसदों की संख्या शून्य है.

डेटा लीक मामले के बाद फेसबुक ने यूजर्स के लिए दिशा-निर्देश जारी किए

डेटा लीक मामले के बाद फेसबुक ने पहली बार यूजर्स के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. हिन्दुस्तान में छपी खबर के मुताबिक इसमें बताया गया है कि यूजर्स को क्या करना चाहिए और क्या नहीं. साथ ही, इनमें इसकी भी जानकारी दी गई है कि किस तरह के अपराधों पर फेसबुक यूजर्स को ब्लॉक कर सकती है या उनकी गिरफ्तारी हो सकती है. इनमें धमकी देना, यौन हिंसा, आतंकवाद को बढ़ावा देना और लुप्तप्राय प्रजातियों के शिकार की पोस्ट शामिल हैं. दूसरी ओर, ट्विटर ने भी अपने नियमों और निजता नीति में बदलाव किया है. बताया जाता है कि इस कदम से यूजर्स को उनके डेटा को लेकर अधिक पारदर्शिता मुहैया कराई जा सकेगी.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और संघ प्रमुख मोहन भागवत के बीच मुलाकात

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की. द एशियन एज की रिपोर्ट के मुताबिक अमित शाह ने नागपुर स्थित संघ के मुख्यालय में करीब चार घंटे का वक्त बिताया. अखबार ने सूत्रों के हवाले से कहा है कि इस दौरान उन्होंने मोहन भागवत के साथ आने वाले चुनावों की रणनीति पर चर्चा की. बताया जाता है कि इस बातचीत में राजस्थान पर दोनों के बीच विशेष रूप से चर्चा की गई. सूत्र के मुताबिक राजस्थान में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को लेकर पार्टी के अंदर एक तबके में नाराजगी है. इसके अलावा अमित शाह ने संघ के दूसरे सबसे बड़े पदाधिकारी भैय्या जोशी के साथ भी बातचीत की. अगले महीने कर्नाटक चुनाव के बाद इस साल के आखिर में राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और मिजोरम में विधानसभा चुनाव होने हैं.

पश्चिम बंगाल : इलेक्ट्रॉनिक मैसेजिंग के जरिए नामांकन पर्चा दाखिल करने की अनुमति नहीं

कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार को इलेक्ट्रॉनिक मैसेजिंग के जरिए पंचायत चुनाव के लिए नामांकन पर्चा दाखिल करने की अनुमति देने की मांग करने वाली सीपीएम की याचिका को खारिज कर दिया. मिंट में प्रकाशित खबर के मुताबिक हाई कोर्ट ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा यह कहने के बाद कि पश्चिम बंगाल पंचायत कानून में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है, यह आदेश नहीं दिया जा सकता. इससे पहले बीते सोमवार को वाट्सएप के जरिए नौ नामांकनों को हाई कोर्ट ने वैध करार दिया था. दूसरी ओर, कलकत्ता हाई कोर्ट ने सीपीएम की पंचायत चुनाव संबंधी एक अन्य याचिका को स्वीकार कर लिया है. इसमें पुलिस महानिदेश और राज्य चुनाव आयोग पर नामांकन दाखिल करने के दिन पर्याप्त सुरक्षा उपलब्ध न कराने का आऱोप लगाते हुए उन पर अदालत की अवमानना का मामला चलाने की मांग की गई है.