महाभारत के समय इंटरनेट होने का दावा करने के बाद त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अब एक नया विवादास्पद बयान दिया है. इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक सौंदर्य स्पर्धाएं (ब्यूटी कॉन्टेस्ट) कराने वाले आयोजकों को अंतरराष्ट्रीय मार्केटिंग माफिया बताया बताते हुए उन्होंने कहा, ‘हमने लक्ष्मी और सरस्वती देवियों जैसी महिलाएं देखी हैं. ऐश्वर्या राय भारतीय महिलाओं का प्रतिनिधित्व करती हैं. वे मिस वर्ल्ड बनीं थी. लेकिन डायना हेडन की खूबसूरती मेरी समझ में नहीं आती.’ उन्होंने आगे कहा, ‘पांच साल लगातार हमारे देश की महिलाएं मिस वर्ल्ड/मिस यूनिवर्स बनीं. डायना हेडन भी जीतीं. क्या आपको लगता है कि उन्हें यह टाइटल दिया जाना चाहिए था?’

बिप्लब ने ये सब बातें अगरतला में आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं. उन्होंने दावा किया कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाली सौंदर्य प्रतियोगिताएं केवल तमाशा होती हैं क्योंकि उनके परिणाम पहले से तय होते हैं. उनका कहना था, ‘वे (आयोजक) लड़कियों को कपड़े पहनाकर रैंप पर चलाते हैं. वे उन्हें प्रमाणपत्र देने वाले अंतरराष्ट्रीय कपड़ा माफिया हैं. ये लोग पहले ही योजना बना लेते हैं कि पुरस्कार किसे देना है और यह सच है.’

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने भाजपा नेताओं को नसीहत दी थी कि वे विवादों से बचें और गैर-जिम्मेदार बयान देकर मीडिया को मसाला न दें. हालांकि इसका कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा. पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के बलिया से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शूर्पणखा कहा था.