जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) से अलग हुए शरद यादव के समर्थकों ने नई पार्टी बना ली है. गुरुवार को उन्होंने नई पार्टी के नाम घोषणा की. पार्टी का नाम लोकतांत्रिक जनता दल (एलजेडी) है. इस दौरान शरद यादव भी मौजूद रहे. हालांकि उन्होंने जोर देते हुए कहा कि अभी वे नई पार्टी के सदस्य नहीं हैं. उन्होंने बताया कि जेडीयू का प्रतिनिधित्व करने का उनका दावा अभी न्यायालय में विचाराधीन है.

घोषणा के दौरान शरद यादव ने कहा कि उनका आशीर्वाद नई पार्टी के साथ है. उधर, एलजेडी की राष्ट्रीय महासचिव सुशीला मोराले ने बताया कि आगामी 18 मई को पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन बुलाया जाएगा जिसमें शरद यादव बतौर मार्गदर्शक मौजूद रहेंगे. बता दें कि जेडीयू के चुनाव चिह्न (तीर) का मामला अभी दिल्ली हाई कोर्ट में लंबित है. इससे पहले निर्वाचन आयोग ने पार्टी के चुनाव चिह्न पर शरद यादव के गुट के दावे को खारिज कर दिया था.

बीते साल राजद के साथ गठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ नई सरकार बनाने के नीतीश कुमार के फैसले के बाद शरद यादव नाराज हो गए थे. उन्होंने इसे बिहार की 11 करोड़ आबादी के साथ धोखा बताया था.