कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र जारी कर दिया है. द इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इस मौके पर मंगलुरू में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह घोषणापत्र राज्य के लोगों के ‘मन की बात’ है. कांग्रेस अध्यक्ष ने आगे कहा, ‘हम अपने घोषणापत्र में जो भी कहते हैं उसे पूरा करते हैं. हमने बीते घोषणापत्र के 95 फीसदी काम पूरे कर लिए हैं.’ कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में अगले पांच साल में एक करोड़ रोजगार देने का वादा किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आगे कहा कि पार्टी के घोषणापत्र को सभी जिलों, समुदायों और क्षेत्रों का दौरा करने के बाद तैयार किया गया है. समाज सुधारक और दार्शिनिक बसवन्ना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, ‘आप जब भी कुछ बोलें तो उसमें वजन होना चाहिए, उसका कोई मतलब होना चाहिए.’ इस बहाने कांग्रेस अध्यक्ष ने भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि भाजपा का घोषणापत्र कर्नाटक के लोगों के नहीं, बल्कि आरएसएस के हिसाब से बनता है और उसमें निश्चित मात्रा में भ्रष्टाचार भी छिपा होता है.

कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस, भाजपा और जनता दल (सेक्युलर) के बीच त्रिकोणीय मुकाबला बताया जा रहा है. कांग्रेस ने मुख्यमंत्री सिद्धारमैया, जबकि भाजपा ने पूर्व मुख्यमंत्री वीएस येद्दियुरप्पा के नेतृत्व में चुनाव लड़ने का फैसला किया है. वहीं, जेडीएस पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा के बेटे कुमारस्वामी की अगुवाई में चुनाव लड़ रही है. यहां पर 12 मई को मतदान और 15 मई को मतगणना होनी है.