तमिलनाडु में सत्ताधारी एआईएडीएमके (अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम) से बहिष्कृत नेता शशिकला के परिवार में ही मतभेद उभरने लगे हैं. इस बार बग़ावत का झंडा शशिकला के भाई वी दिवाकरन ने बुलंद किया है. उन्होंने अपने भतीजे टीटीवी दिनाकरन को ‘सत्ता का भूखा’ करार दिया है.

दिवाकरन ने यहां तक कहा कि शशिकला की आज जो स्थिति है उसके लिए वास्तव में दिनाकरन ही जिम्मेदार हैं. यही नहीं दिवाकरन ने एआईएडीएमके से परिवार (शशिकला के) की पकड़ ढीली हो जाने के लिए भी दिनाकरन को ही दोष दिया. ग़ौरतलब है कि तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत जयललिता की सबसे निकट सहयोगी रहीं शशिकला इस वक़्त बेंगलुरु की केंद्रीय जेल में भ्रष्टाचार के मामले में सजा काट रही हैं.

दिवाकरन ने मीडिया से बातचीत में कहा, ‘आपने (दिनाकरन) सत्ता हथियाने की कोशिश की. मुख्यमंत्री बनने कीे कोशिश की. इस चक्कर में पार्टी से हाथ धो बैठे. आज 123 विधायक, 38 सांसद, पार्टी का नाम, चुनाव चिह्न, झंडा, सब आपके हाथ से जा चुका है. आपके पास कुछ नहीं बचा.’ उन्होंने दिनाकरन की नई पार्टी पर भी निशाना साधा और कहा, ‘मैं ऐसी किसी पार्टी से सहमत नहीं हूं जिसमें द्रविड़म या अन्ना (द्रविड़ मुनेत्र कड़गम के संस्थापक अन्नादुरई या एआईएडीएमके की स्थापना करने वाले एमजी रामचंद्रन) का नाम न हो. यहां यह भी ध्यान देने की बात है कि दिनाकरन ने हाल में ही अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम (एएमएमके) के नाम से नई पार्टी बनाई है.