गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी अपने एक दिलचस्प बयान की वजह से आज सोशल मीडिया पर चर्चा में हैं. रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की एक शाखा विश्व संवाद केंद्र द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में गुजरात के मुख्यमंत्री ने दावा किया था कि नारद मुनि के पास इतनी जानकारी थी जितनी इंटरनेट सर्च इंजन (गूगल) के पास है. फेसबुक और ट्विटर यूजर्स ने इस बयान के बहाने आज खूब हंसी-मजाक किया है. ट्विटर पर एक यूजर की चुटकी है, ‘...विजय रूपाणी के बयान के बाद गूगल के शेयरों में भारी गिरावट देखी गई है.’ इस बयान का जिक्र करते हुए यहां लोगों गुजरात के मुख्यमंत्री के साथ-साथ भाजपा को भी तंजिया अंदाज में निशाना बनाया है. शंकर लाल मीणा ने लिखा है, ‘गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा की एक सौ पचास से ज्यादा सीटें आने वाली हैं, विजय रूपाणी को यह जानकारी नारद से ही मिली थी.’

सोशल मीडिया पर पिछले कुछ दिनों से त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब अपने बेतुके बयानों को लेकर लगातार चर्चा में हैं. विजय रुपाणी का नारद मुनि वाला बयान आने के बाद आज लोगों ने गुजरात के मुख्यमंत्री की बिप्लब देब से तुलना करते हुए कई मजेदार टिप्पणियां की हैं. ट्विटर हैंडल @Pun_Starr पर प्रतिक्रिया है, ‘... ऐसा लग रहा है कि विजय रूपाणी भी बिप्लब देब की तरह सबकुछ जानते हैं.’

सोशल मीडिया में विजय रूपाणी के बयान पर आईं कुछ और दिलचस्प प्रतिक्रियाएं :

दिलबाग बल | @dilbagbal

नारायण, नारायण... मुझे तो अब तक यही लगता था कि मेरी पड़ोस की आंटी ही हैं जो गूगल से ज्यादा जानकारियां रखती हैं.

प्रशांत नानवरे | @nprashant

मैंने ‘मन की बात’ नारद किया और मुझे ये मिला.

बिप्लब कुमार देब |‏ @BiplapDeb

रुपाणी सर सही कह रहे हैं. नारद गूगल थे. द्रौपदी का अक्षय पात्र फूडपांडा था. अश्विनी कुमार वेबएमडी.

अरविंद झा | @jalajboy

हे नारद, मोदी जी ने कॉलेज की पढ़ाई कहां से की थी?
नारद – नारायण... नारायण....

इंडिया एक्सप्लेन्ड ‏| @IndiaExplained

अगर नारद गूगल थे तो मोदी कौन था? सही जवाब देने वाले को इनाम दिया जाएगा.

राधिका खेड़ा | @Radhika_Khera

...भाजपा नेताओं के बीच खुद को सबसे ज्यादा हास्यास्पद साबित करने की होड़ मची हुई है. हालांकि ऐसा लगता है प्रधान सेवक आसानी से यह मुकाबला जीत जाएंगे.