अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) के छात्र संघ कार्यलय में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर पर विवाद को लेकर बयानबाजी जारी है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘जिन्ना देश के दुश्मन थे. देश के दुश्मन के लिए किसी के दिल में न तो कभी कोई जगह थी और न कभी होगी.’ वहीं, गुरुवार को मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने कहा था कि जिन्ना के महिमामंडन का सवाल ही नहीं उठता, क्योंकि वे देश के बंटवारे के लिए जिम्मेदार थे.

हालांकि, भाजपा और उत्तर प्रदेश सरकार इस मामले में बंटी नजर आ रही है. भाजपा नेता और उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य एएमयू में जिन्ना की तस्वीर का समर्थन किया है. उनका कहना है कि बंटवारे से पहले पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना के योगदान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. लेकिन इस बारे में पूछे जाने पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि यह उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है, जिसे बाद में निपटाया जाएगा.

यह विवाद भाजपा सांसद सतीश गौतम द्वारा एएमयू के छात्र संघ कार्यालय में लगी जिन्ना की तस्वीर को लेकर कुलपति तारिक मंसूर से सफाई मांगने के बाद सामने आया है. अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी विश्वविद्यालय प्रशासन से इस पर सफाई मांगी है. उधर, विश्वविद्यालय से जुड़े लोगों का कहना है कि छात्र संघ का आजीवन सदस्य होने के नाते जिन्ना की तस्वीर 1938 से अन्य नेताओं के साथ यूनियन हॉल लगी है.